स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अस्पताल में इलाज के दौरान हुई युवती की मौत, परिजनों ने सड़क पर शव रखकर लगाया जाम तो पुलिस ने ऐसे खदेड़ा

Nitin Sharma

Publish: Oct 18, 2019 15:43 PM | Updated: Oct 18, 2019 15:52 PM

Hapur

Highlights

  • महिला की उपचार के दौरान हुई मौत, परिजनों ने सड़क पर रखा शव
  • शव रखकर ससुराल पक्ष पर लगाया दहेज हत्या का आरोप
  • नगदी और गाड़ी मांगने पर ससुरालियों पर आरोप

हापुड़।जनपद के थाना देहात क्षेत्र में परिवार ने ससुराल पक्ष पर बेटी की दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाया है। आरोप है कि मृतक महिला को उसके ससुराल पक्ष के लोग दहेज के लिए प्रताडि़त करते थे। उससे 5 लाख रुपये और गाड़ी की डिमांड की जा रही थी। इसको लेकर मृतक महिला कुछ समय से अपने मायके आकर रह रही थी और उसकी हालत बिगड़ जाने के बाद उसे दिल्ली ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। उधर ससुराल पक्ष पर कार्रवाई को लेकर मृतका के परिजनों ने शव सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। इस दौरान पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।

डेढ़ साल पहले की थी बेटी की शादी

जानकारी के अनुसार हापुड़ निवासी स्वेता की शादी उसके पिता ने डेढ़ साल पूर्व मेरठ निवासी वरुण से की थी। आरोप है कि शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग दहेज के लिए बेटी को परेशान करते थे। आए दिन मारपीट और उत्पीडऩ से परेशान होकर पीडि़ता अपने मायके आकर रहने लगी। परिजनों का कहना है कि उसका यहां इलाज चल रहा था। अचानक तबीयत बिगडऩे पर स्वेता को अस्पताल ले जाया गया। यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि स्वेता की मौत ससुरालियों द्वारा आए दिन मारपीट और उत्पीडऩ करने के चलते हुई।

शव सड़क पर रखकर लगाया जाम तो पुलिस ने किया लाठीचार्ज

स्वेता की मौत के बाद परिजनों ने ससुराल पक्ष पर कार्रवाई की मांग करते हुए शव सड़क पर रखकर प्रदर्शन किया गया। इस दौरान जाम की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने बात सुनने की जगह आते ही लाठी चार्ज कर दिया। उधर डीएसपी राजेश सिंह का कहना है कि उन पर कोई बल प्रयोग नहीं किया गया है। बल्कि उन्हें वहां से खदेड़ा गया है, लेकिन तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि पुलिस से न्याय के बजाय पीडि़त पक्ष के लोगों को लाठियां भाज दी। पुलिस का कहना है कि इस में मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।