स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

SDM को आधी रात युवती से मंदिर में रचानी पड़ी शादी, जानिये पूरा मामला

lokesh verma

Publish: Oct 13, 2019 10:09 AM | Updated: Oct 13, 2019 10:09 AM

Hapur

Highlights
- हापुड़ में एसडीएम के पद पर तैनात हैं दिनेश कुमार
- रात आठ बजे खुलवाया गया रजिस्ट्री कार्यालय
- एसडीएम ने आधी रात मंदिर में लिए युवती संग सात फेरे

हापुड़. जिले में तैनात एसडीएम दिनेश कुमार ने शुक्रवार आधी रात कुशीनगर जिले के पडरौना स्थित गायत्री मंदिर में अपनी एक महिला मित्र से शादी रचाई है। आधी रात अचानक हुई यह शादी सुर्खियों में है। बता दें कि एसडीएम और युवती आजमगढ़ के रहने वाले हैं। फिलहाल एसडीएम दिनेश कुमार हापुड़ में कार्यरत हैं।

यह भी पढ़ें- पत्नी तंजीन फातिमा के लिए वोट मांगने पहुंचे थे आजम, फूट-फूट कर लगे रोने

जानकारी के अनुसार, कुशीनगर में तैनात रहे एसडीएम दिनेश कुमार का ट्रांसफर एक माह पहले ही हापुड़ जिले में हुआ है। बताया जा रहा है कि एसडीएम दिनेश कुमार कुशीनगर हाटा स्थित सरकारी आवास से शुक्रवार को अपना सामान लेने हापुड़ से पहुंचे थे। इसी बीच आजमगढ़ के अहरौला थाना क्षेत्र के एक गांव की निवासी एक युवती भी पहुंच गई। इस दौरान दोनों में जमकर हाईप्रोफाइल ड्रामा हुआ। सूत्रों के अनुसार, युवती ने डीएम से कहा कि एसडीएम दिनेश कुमार से चार साल से उसके संबंध हैं और वह उनसे शादी करना चाहती है।

अधिकारी देर रात तक युवती को समझाने के प्रयास में जुटे गए, लेकिन वह एसडीएम दिनेश कुमार से शादी की जिद पर अड़ गर्इ। विवाद बढ़ता देख एसडीएम शादी करने के लिए राजी हो गए। इसके बाद रात आठ बजे रजिस्ट्री कार्यालय खुलवाकर शादी के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी की गर्इ आैर फिर अधिकारियों की मौजूदगी में आधी रात गायत्री मंदिर में एसडीएम और ने महिला मित्र के साथ सात फेरे लिए। बताया जा रहा है कि एसडीएम की शादी पहले ही हो चुकी है, लेकिन अब उनकी पत्नी उनके साथ नहीं रहती है।

इस मामले में एसडीएम दिनेश कुमार का कहना है कि युवती के आरोप गलत हैं। एक बार वह खुद अपनी मां के साथ युवती के घर शादी का प्रस्ताव रखने गए थे, लेकिन उसने ही मना कर दिया था। इसके बाद वह कभी पैसे तो कभी नौकरी लगवाने की बात कहती थी। हाालंकि अब उन्होंने युवती से शादी कर ली है। अब दोनों पति-पत्नी हैं।

यह भी पढ़ें- जानिये क्यों सीएम योगी ने इन जिलों के पुलिस अधिकारीयों को दी बधाई