स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Triple Talaq: शादी के बाद सगी बहनें पतियों की नहीं पूरी कर सकी ये मांग तो घर पहुंचकर दिया तीन तलाक- देखें वीडियो

Nitin Sharma

Publish: Oct 17, 2019 17:30 PM | Updated: Oct 17, 2019 17:30 PM

Hapur

Highlights

  • दोनों बहनों की एक साथ हुआ था निकाह
  • निकाह के बाद पतियों ने की थी कार और जमीन की डिमांड
  • मांग पूरी न करने पाने पर परेशान होकर घर पहुंची बहनें तो पतियों ने दिया तीन तलाक

हापुड़। केन्द्र सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए तीन तलाक कानून तो बना दिया, लेकिन कानून बनने के बाद भी मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक का शिकार अभी भी होना पड़ रहा है। इतना ही नहीं लोग तीन तलाक देने से बिल्कुल भी नही घबरा रहे है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ का है। जहां दो सगे भाइयों ने दहेज के लालच में अपनी पत्नियों को तीन तालाक दे दिया। दोनों सगी बहनों का निकाह मेरठ के रहने वाले दो भाइयों के साथ हुआ था। बहनों का आरोप है कि दहेज की मांग न पूरी होने के कारण उनके पतियों ने उन्हें तीन तलाक दे दिया।

इस बात को लेकर आमने-सामने आई पुलिस और व्यापारी, अधिकारियों ने दी बड़ी कार्रवाई की चेतावनी- देखें वीडियाे

आपको बता दें कि मामला धौलाना थाना क्षेत्र का है। जहां आसमा और साजमा का निकाह इकरामुद्दीन और उसके भाई सलमान के साथ हुआ था। दोनों बहनों का आरोप है कि शादी के बाद से ही दोनों के पति उनको दहेज को लेकर प्रताडि़त करते थे। उनके साथ घर में आए दिन मारपीट करने के साथ ही परेशान किया जाता था। पति दहेज में कार और दो बीघे जमीन का मांग कर रहे थे, लेकिन पिता द्वारा दहेज में गाड़ी और जमीन न मिलने नाराज पति आए दिन उनके साथ मारपीट करते थे।

करवा चौथ पर घरों से ऐसे निकली महिलाएं, बाजारों में व्यापारियों को हुआ बड़ा फायदा- देखें वीडियो

मायके में आकर तीन बार तलाक बोलकर चले गये, दोनों के पति

पीडि़त बहनों ने बताया कि आए दिन की मारपीट से तंग आकर वह अपने पिता के साथ अपने मायके आ गई। वह दोनों अपने घर पर ही रह रही थी। उनका आरोप है की उनके पति धौलाना उनके घर पहुंचे और दोनों बहनो को एक साथ तीन तलाक देकर चले गये। जिसके बाद पीडि़ताओं ने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है। वहीं उनका यह भी आरोप है की धौलाना पुलिस ने तीन तलाक पीडि़ताओं को थाने से भगा दिया। जिसके बाद उन्होंने एसपी ऑफिस जाकर न्याय ही गुहार लगाई।