स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शिष्यों के साथ अब गुरुजी पर भी रहेगी पाबंदी, नहीं कर सकेंगे स्कूल में 'हेल्लो-हेल्लो'

Adrish Khan

Publish: Jul 19, 2019 11:58 AM | Updated: Jul 19, 2019 11:58 AM

Hanumangarh

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. शिष्यों के साथ अब गुरुजी पर भी पाठशाला में मोबाइल फोन के इस्तेमाल को लेकर पाबंदी रहेगी। मतलब मास्टरजी के मोबाइल फोन अब हैड मास्टरजी के पास जमा रहेंगे। वे उनका कक्षाओं में या उसके बाहर उपयोग नहीं कर सकेंगे। सरकारी पाठशालाओं में शिक्षकों के मोबाइल फोन पर व्यस्त रहने की बढ़ती शिकायतों के दृष्टिगत यह निर्णय किया गया है।

शिष्यों के साथ अब गुरुजी पर भी रहेगी पाबंदी, नहीं कर सकेंगे स्कूल में 'हेल्लो-हेल्लो'
- विद्यालय समय में मोबाइल फोन के बढ़ते इस्तेमाल के चलते जारी किया आदेश
- संस्था प्रधानों के पास जमा कराने होंगे मोबाइल फोन
हनुमानगढ़. शिष्यों के साथ अब गुरुजी पर भी पाठशाला में मोबाइल फोन के इस्तेमाल को लेकर पाबंदी रहेगी। मतलब मास्टरजी के मोबाइल फोन अब हैड मास्टरजी के पास जमा रहेंगे। वे उनका कक्षाओं में या उसके बाहर उपयोग नहीं कर सकेंगे। सरकारी पाठशालाओं में शिक्षकों के मोबाइल फोन पर व्यस्त रहने की बढ़ती शिकायतों के दृष्टिगत यह निर्णय किया गया है। इस संबंध में संयुक्त निदेशक, स्कूल शिक्षा बीकानेर संभाग, बीकानेर ने सभी संस्था प्रधानों को आदेश जारी किया है। इसमें सरकारी के साथ गैर सरकारी विद्यालयों के संस्था प्रधानों का भी जिक्र किया गया है।
यद्यपि अधिकांश गैर राजकीय विद्यालयों में पहले से ही इस तरह की व्यवस्था लागू है। यह पाबंदी न केवल राजकीय विद्यालयों के शिक्षकों पर रहेगी बल्कि गैर शैक्षणिक कार्यों में लगे कर्मचारियों पर भी रहेगी। आदेश के अनुसार निरीक्षण के दौरान यह सामने आया है कि विद्यालय समय में शिक्षक सहित अन्य कार्मिक मोबाइल फोन पर व्यस्त रहते हैं। वे सोशल मीडिया पर कई घंटे गुजार देते हैं, उनको इसका आभास तक नहीं होता। अंतत: इसका असर शिक्षण व्यवस्था पर पड़ता है। अध्यापन के दौरान मोबाइल पर ध्यान रहने के कारण गंभीरता से पढ़ाई नहीं हो पाती। कई बार मोबाइल फोन के चक्कर में कालांश ही बिना अध्यापन के समाप्त हो जाता है।


होगी अनुशासनात्मक कार्रवाई
संस्था प्रधानों को यह जिम्मेदारी दी गई है कि वे आदेशों की पालना करवाए। अगर उच्चाधिकारियों के निरीक्षण के दौरान शिक्षक या अन्य कार्मिक मोबाइल फोन का उपयोग करते मिलता है तो उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके लिए संस्था प्रधान तथा संबंधित कार्मिक जिम्मेदार होगा।


करने होंगे मोबाइल जमा
आदेश के अनुसार विद्यालय समय के दौरान सभी शिक्षक व कार्मिक अपने मोबाइल फोन बंद कर संस्था प्रधान के पास जमा करवा दे। यदि कोई शिक्षक ऐसा नहीं करता है तो उसके खिलाफ कार्यवाही के लिए उच्चाधिकारियों को लिखे।