स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सुस्ती भगाएंगे दूर, अफसरों को करेंगे चुस्त

Purushotam Jha

Publish: Oct 06, 2019 12:23 PM | Updated: Oct 06, 2019 12:23 PM

Hanumangarh

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. ऋण वितरण के कार्य में बैंकों की सुस्त छवि को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए वित्त मंत्रालय ने अब हर जिले में ग्राहक-बैंकर्स समागम करने का निर्णय लिया है।

 


- 400 जिलों में बैंकर्स का ग्राहकों के साथ होगा समागम
-एक छत के नीचे 21 बैंकों के अफसरों ने ग्राहकों को दी ऋण योजनाओं की जानकारी
.......फोटो........
हनुमानगढ़. ऋण वितरण के कार्य में बैंकों की सुस्त छवि को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए वित्त मंत्रालय ने अब हर जिले में ग्राहक-बैंकर्स समागम करने का निर्णय लिया है। इसी क्रम में जिला मुख्यालय पर शनिवार को जंक्शन के व्यापार मंडल धर्मशाला में ग्राहक-बैंकर्स समागम का आयोजन किया गया। इसमें वक्ताओं ने कहा कि आम नागरिक बैकिंग योजनाओं का लाभ ले सके, इसके लिए जरूरी है कि उसे इसकी पूरी जानकारी हो। इसी सोच के साथ मंत्रालय के निर्देश पर ४०० जिलों में ग्राहक-बैंकर्स समागम का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में शनिवार को जिला मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम मेें एक छत के नीचे सभी बैंकों के अधिकारियों ने शामिल होकर अपनी-अपनी योजनाओं के बारे में ग्राहकों को जानकारी दी। इस मौके पर मुख्य अतिथि जिला कलक्टर जाकिर हुसैन ने कहा कि बिना बैंक के देश का आर्थिक विकास संभव नहीं है। देश के विकास में बैंकिंग सेवा का बड़ा योगदान है। सरकार भी सभी योजनाओं का लाभ बैंकों के माध्यम से पहुंचाने का प्रयास कर रही है। इस मौके पर ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, प्रधान कार्यालय दिल्ली के प्रतिनिधि व यूपी-उत्तराखंड के महाप्रबंधक भंवर सिंह जैतावत, सहायक महाप्रबंधक नारायण शर्मा, मुख्य प्रबंधक हनुमानगढ़ निश्चित गौतम, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया रीजन हनुमानगढ़ के सहायक महाप्रबंधक दिनेश वर्मा, प्रबंधक अरविंद कुमार, पीआरओ सुरेश बिश्नोई, बैंक कर्मचारी यूनियन के दिनेश कौशिक, उद्योगपति सुभाष सिंगला सहित अन्य मौजूद रहे। समागम के दौरान २१ बैंकों की स्टॉलें लगाई गई। अतिथियों ने सभी बैंकों की स्टॉलों पर जाकर इसका अवलोकन किया। दो दिवसीय समागम के तहत रविवार को इसका समापन किया जाएगा। पहले दिन शनिवार को समागम के दौरान ५१५ लोगों ने पहुंचकर ऋण योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। जबकि सभी बैंकों ने ८.९३ करोड़ रुपए ऋण जारी करने की प्राथमिक स्वीकृतियां जारी की।