स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

टिब्बी के वार्ड 4 में एक शिक्षक पर बच्चा एक भी नहीं

Manoj Goyal

Publish: Sep 18, 2019 22:42 PM | Updated: Sep 18, 2019 22:42 PM

Hanumangarh

शिक्षक है, भवन भी है लेकिन बच्चों का है इंतजार

टिब्बी के चक १९ एनजीसी में दो बच्चों पर दो शिक्षक

हनुमानगढ़. टिब्बी क्षेत्र के स्कूलों में शिक्षक शिक्षार्थी अनुपात बिगड़ा हुआ है। शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत 40 बच्चों पर एक शिक्षक की नियुक्ति होनी चाहिए लेकिन ब्लॉक के कुछ स्कूल ऐसे हैं जहां पर बच्चे अधिक हैं तथा शिक्षक कम हैं लेकिन कुछ स्कूल ऐसे भी हैं जहां पर शिक्षक हैं, भवन भी हैं लेकिन बच्चों का इंतजार है।


ऐसा ही एक स्कूल क्षेत्र के चक १९ एनजीसी-ए में स्थित है। इस चक में स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय में दो बच्चों का नामांकन है जिन्हें पढ़ाने के लिए तृतीय श्रेणी के दो शिक्षक कार्यरत हैं। इस हिसाब से चालीस बच्चों पर एक नही बल्कि एक बच्चे पर एक शिक्षक तैनात है।


पीरकामडिया रोही में स्थित इस विद्यालय में इस सत्र में ही दो बच्चों ने प्रवेश लिया है बताया जा रहा है कि पिछले वर्ष तो इस विद्यालय में एक भी नामांकन नही था तथा तृतीय श्रेणी के दो शिक्षक यहां तैनात रहे। इसी तरह कस्बे के वार्ड ४ स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय में एक भी नामांकन नही है जब कि यहां एक शिक्षक नियुक्त है। इन विद्यालयों में बच्चों के अभाव का कारण आईटीई के तहत निजी विद्यालयों में बच्चों के प्रवेश लेना बताया जा रहा है।

जिसके कारण सरकारी स्कूलों में बच्चों की कमी बनी रहती है। शिक्षा अधिकारियों के अनुसार कम नामांकन वाले स्कूलों में बच्चों के नामांकन को बढ़ाने के लिए शिक्षकों को निर्देशित किया गया है तथा इस बारे में उच्चाधिकारियों को अवगत करवा कर मार्ग दर्शन मांगा गया है।