स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गरीब और दलित छात्रों को छात्रवृत्ति का एक और मौका

Manoj Goyal

Publish: Dec 05, 2019 11:47 AM | Updated: Dec 05, 2019 11:47 AM

Hanumangarh

राहत भरी सूचना
आज से शुरू हुआ पोर्टल
हजारों छात्रों को मिलेगा लाभ

मनोज गोयल

हनुमानगढ़. राज्य में छात्रवृत्ति आवेदन भरने से वंचित रहे आर्थिक रूप से कमजोर और अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग के हजारों छात्र-छात्राओं के लिए एक अच्छी खबर। राज्य के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने उत्तर मैट्रिक छात्रवृति की आवेदन तिथि बढ़ाने के आदेश जारी किए हैं। विभाग का पोर्टल छात्रवृत्ति आवेदन भरने के लिए पांच से 20 दिसम्बर के दौरान खुलेगा। पोर्टल के खुलने के बाद छात्र-छात्राएं एसएसओ आईडी के जरिए अपने आवेदन भर सकेंगे। आवेदन तिथि बढ़ाने से उच्च शिक्षा खास तौर पर तकनीकी शिक्षा में अध्ययनरत विद्यार्थियों को भारी राहत मिलेगी। तकनीकी शिक्षा के परीक्षा परिणाम विलम्ब से आने के चलते अधिकांश विद्यार्थी ऑन लाइन आवेदन पत्र जमा नहीं करवा पाए थे। उल्लेखनीय है कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने जुलाई माह में अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के विद्यार्थियों को आर्थिक सहायता देने के लिए उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया आरंभ की थी। फिर इसकी तिथि बढ़ा कर 31 सितम्बर कर दी गई।


इसके बाद भी इसकी आवेदन तिथि बढ़ा कर 31 अक्टूबर 2019 कर दी गई। इस दौरान विभिन्न पाठ्यक्रमों में अध्ययन करने वाले छात्र-छात्राओं ने तो आवेदन कर दिए लेकिन आईटीआई सहित कई तकनीकी पाठयक्रमों के विद्यार्थी आवेदन नहीं कर पाए थे। इसकी मुख्य वजह रही कि प्रथम वर्ष का परीक्षा परिणाम नहीं आ पाने के कारण द्वितीय वर्ष के लिए आवेदन नहीं कर पाए। उत्तर मैट्रिक छात्रवृति योजना के नियमानुसार द्वितीय वर्ष की छात्रवृति के लिए प्रथम वर्ष उत्र्तीण की अंकतालिका अनिवार्य है। ऐसे में परीक्षा परिणाम नहीं आने से विद्यार्थी आवेदन पत्र नहीं भर पाए और दूसरी तरफ उत्तर मैट्रिक छात्रवृति योजना की आवेदन तिथि पूर्ण हो गई और पोर्टल बंद हो गया है।


परीक्षा परिणाम अभी भी नहीं आया
खास बात यह है कि विभाग ने आवेदन तिथि बढ़ाने का ऐलान करते हुए पांच से बीस दिसम्बर के लिए पोर्टल खोलने का आदेश जारी किया है लेकिन आईटीआई के प्रथम वर्ष का परीक्षा परिणाम अभी भी जारी नहीं हुआ है।


क्या है योजना
विभाग की ओर से अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के बीपीएल वर्ग के छात्र-छात्राओं को उत्तर मेट्रिक छात्रवृति योजना के तहत उच्च शिक्षा के लिए संस्थानों की परीक्षा एवं शैक्षणिक शुल्क का 50 से 75 प्रतिशत तक छात्रवृति देता है। इसके लिए ऑन लाइन आवेदन पत्र निर्धारित प्रपत्र के तहत भरवाए जाते हैं।


पांच से शुरू होगा पोर्टल
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के बीपीएल वर्ग के छात्र-छात्राओं के आर्थिक हितों को देखते हुए पांच दिसम्बर से पोर्टल शुरू करने का आदेश जारी किया है। उम्मीद है इससे वंचित छात्र छात्रवृत्ति के लिए आवेदन पत्र भर सकेंगे। - डॉ. अभिषेक गुप्ता, सहायक निदेशक, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, हनुमानगढ़।

[MORE_ADVERTISE1]