स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

15 सितम्बर तक रेग्यूलेशन रहेगा यथावत

Purushotam Jha

Publish: Aug 21, 2019 21:40 PM | Updated: Aug 21, 2019 21:40 PM

Hanumangarh

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

बीबीएमबी की आपात बैठक चंडीगढ़ में हुई। इसमें बांधों के जल स्तर की समीक्षा की गई। भाखड़ा व पौंग बांधों का जल स्तर संतोषजनक होने के कारण रबी सीजन में भी राजस्थान के दस जिलों को सिंचाई पानी मिल सकेगा।

 

15 सितम्बर तक रेग्यूलेशन रहेगा यथावत
-बीबीएमबी की बैठक में प्रदेश का शेयर निर्धारित

हनुमानगढ़. बीबीएमबी की आपात बैठक मंगलवार को चंडीगढ़ में हुई। इसमें बांधों के जल स्तर की समीक्षा की गई। भाखड़ा व पौंग बांधों का जल स्तर संतोषजनक होने के कारण रबी सीजन में भी राजस्थान के दस जिलों को सिंचाई पानी मिल सकेगा। बैठक में राजस्थान का प्रतिनिधित्व जल संसाधन उत्तर संभाग हनुमानगढ़ के मुख्य अभियंता विनोद कुमार मित्तल ने किया। उन्होंने बताया कि बीबीएमबी ने स्थिति स्पष्ट कर दी है कि डाउन स्ट्रीम में जो पानी प्रवाहित किया गया, वह भाखड़ा डैम से प्रवाहित किया गया नहीं था। हरिके बैराज के आसपास तेज बारिश होने के कारण ही डाउन स्ट्रीम में भारी मात्रा में पानी का प्रवाह हो रहा है। मुख्य अभियंता ने बताया कि बीबीएमबी सदस्यों के समक्ष हमने राजस्थान को पूरे सितम्बर माह में इंदिरागांधी नहर को चार में दो समूह में चलाने जितना पानी देने की मांग रखी। बीबीएमबी सदस्यों ने १५ सितम्बर तक वर्तमान रेग्यूलेशन को यथावत रखने पर सहमति प्रदान कर दी। इससे आगे का शेयर निर्धारित करने को लेकर फिर से सितम्बर मध्य में बैठक होगी। मुख्य अभियंता ने बताया कि २० अगस्त को हरिके डाउन स्ट्रीम में डेढ़ लाख क्यूसेक पानी प्रवाहित किया गया। जबकि १९ अगस्त को हरिके डाउनस्ट्रीम में ८२००० क्यूसेक पानी प्रवाहित किया गया था। यह पानी हुसैनीवाला हैड के जरिए पाक क्षेत्र में भेजा जा रहा है। हुसैनीवाला हैड पर कुल २९ गेट लगाए गए हैं। इनमें चार-पांच गेट खोल दिए गए हैं। वहीं बांधों के लबालब होने के कारण इंदिरागांधी नहर को मांग के अनुसार सिंचाई पानी मिलने की उम्मीद जगी है। इंदिरागंाधी नहर से हनुमानगढ़ के अलावा श्रीगंगानगर, चूरू, बीकानेर, नागौर, जैसलमेर, जोधपुर, झुंझुंनू सहित राजस्थान के दस जिलों को नहरी पानी मिल रहा है।