स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजस्थान के शेयर में इस बार एक लाख क्यूसेक डेज की बढ़ोतरी

Purushotam Jha

Publish: Sep 19, 2019 19:30 PM | Updated: Sep 19, 2019 19:30 PM

Hanumangarh

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. आगामी रबी सीजन में फसलों की बिजाई के लिए प्रदेश के किसानों को पूरा सिंचाई पानी मिलेगा। इसका निर्धारण गुरुवार को चंडीगढ़ में हुई भाखड़ा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड (बीबीएमबी) की बैठक में किया गया। जल संसाधन उत्तर संभाग हनुमानगढ़ के मुख्य अभियंता विनोद कुमार मित्तल ने बैठक में राजस्थान का प्रतिनिधित्व किया। बैठक में बीबीएमबी सदस्यों ने सभी राज्यों के शेयर की स्थिति स्पष्ट की।

 


-रबी बिजाई के लिए किसानों को मिलेगा पूरा पानी
-बीबीएमबी की बैठक में अक्टूबर का शेयर निर्धारित

हनुमानगढ़. आगामी रबी सीजन में फसलों की बिजाई के लिए प्रदेश के किसानों को पूरा सिंचाई पानी मिलेगा। इसका निर्धारण गुरुवार को चंडीगढ़ में हुई भाखड़ा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड (बीबीएमबी) की बैठक में किया गया। जल संसाधन उत्तर संभाग हनुमानगढ़ के मुख्य अभियंता विनोद कुमार मित्तल ने बैठक में राजस्थान का प्रतिनिधित्व किया। बैठक में बीबीएमबी सदस्यों ने सभी राज्यों के शेयर की स्थिति स्पष्ट की। बताया जा रहा है कि इस वर्ष बांधों का जल स्तर बढऩे के कारण राजस्थान के शेयर में एक लाख क्यूसेक डेज की बढ़ोतरी हुई है। गत वर्ष भराव अवधि के बाद बांधों में भंडारित पानी के अनुपात में राजस्थान का शेयर १९ लाख क्यूसेक डेज निर्धारित किया गया था। जबकि इस बार राजस्थान के शेयर में एक लाख क्यूसेक डेज का इजाफा हुआ है। इस तरह अबकी बार राजस्थान का शेयर बीस लाख क्यूसेक डेज निर्धारित किया गया है। इससे आगामी रबी सीजन में किसानों को सिंचाई पानी की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। मुख्य अभियंता विनोद कुमार मित्तल ने बताया कि गत वर्ष रबी सीजन के लिए जितनी बारी निर्धारित की गई थी, उसी के अनुसार इस वर्ष भी बारी निर्धारित कर किसानों को तय रेग्यूलेशन के अनुसार पानी देने का प्रयास रहेगा। उन्होंने बताया कि अक्टूबर में भी इंदिरागांधी नहर को चार में दो समूह में चलाया जाएगा। बीबीएमबी की ओर से निर्धारित शेयर के अनुसार अक्टूबर में इंदिरागांधी नहर में १०५००, भाखड़ा में १२००, गंगकैनाल में २२००, सिद्धमुख नोहर में ६५० व खारा प्रणाली की नहरों में २५० क्यूसेक पानी चलाया जाएगा।

जल स्तर में काफी सुधार
भाखड़ा और इंदिरागांधी नहर से राजस्थान के हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, चूरू, नागौर, जैसलमेर, बीकानेर सहित प्रदेश के दस जिलों को जलापूर्ति होती है। इन दोनों नहरों को भाखड़ा, पौंग और रणजीतसागर बांधों से पानी मिलता है। जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के अनुसार सितम्बर के दूसरे पखवाड़े मे भाखड़ा बांध का जल स्तर गत वर्ष १६५१ फीट के करीब था, जो इस वर्ष बढक़र १६७५ फीट हो गया है। इसी तरह पौंग का जल स्तर गत वर्ष १३७७ फीट के करीब था, जो इस वर्ष १३८७ फीट के करीब है। पौंग बांध के जल भराव की अधिकतम क्षमता १३९० व भाखड़ा की अधिकतम भराव क्षमता १६८० निर्धारित की गई है। इस तरह दोनों बांधों का जल स्तर इस वर्ष अधिकतम भराव क्षमता के आसपास पहुंंच गई है। इससे आगे रबी सीजन में फसलों की बिजाई व पकाई के लिए किसानों को पूरा पानी मिल सकेगा।