स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राजस्थान में यहां बदला मौसम का मिजाज, जमकर बरस रहे बादल, खिल उठे किसानों के चेहरे

Dinesh Saini

Publish: Jul 18, 2019 13:15 PM | Updated: Jul 18, 2019 13:42 PM

Hanumangarh

Rain in Rajasthan : राजस्थान में कई दिनों से सुस्त पड़े मानसून ( Monsoon )ने आखिरकार एक बार फिर से रफ्तार पकडऩी शुरू कर दी है। हनुमानगढ़ जिले के पीलीबंगा कस्बे में गुरुवार अलसुबह जोरदार बरसात ( Rajasthan Rain ) से कस्बे की सडक़ें पानी से लबालब हो गई...

हनुमानगढ़। राजस्थान में कई दिनों से सुस्त पड़े मानसून ( monsoon )ने आखिरकार एक बार फिर से रफ्तार पकडऩी शुरू कर दी है। प्रदेश के कई हिस्सों से बारिश की खबर है। वहीं हनुमानगढ़ जिले के पीलीबंगा कस्बे में गुरुवार अलसुबह जोरदार बरसात ( Rain ) से कस्बे की सडक़ें पानी से लबालब हो गई। टिब्बी कस्बे सहित आसपास के गावों में भी सुबह जोरदार बरसात हुई। कस्बे में करीब एक घंटे चली बरसात से गलियां पानी से लबालब हो गई। गुरुवार को लगातार दूसरे दिन अच्छी बरसात होने से ग्रामीणों को गरमी से राहत मिली है। अच्छी बरसात ( Rain ) होने से झुलस रही नरमा-कपास व धान की फसलों को जीवनदान मिला, तो वहीं इससे उमस भरी गरमी से लोगों को राहत मिली। बरसात से गलियों में पानी भरने से आवागमन बाधित हुआ।

वहीं दूसरी ओर कोटा में भी बारिश हुई। जिले के भण्डेड़ा कस्बे सहित क्षेत्र में गुरुवार को सुबह की शुरुआत उमस व गर्मी के साथ हुई। पौने सात बजे आसमान में काली घटाएं चढकऱ आई। क्षेत्र में मध्यम दर्जे के साथ दस मिनट तक रिमझिम बरसात होने से किसानों की खरीफ की फसलों को भी राहत मिली है। बारिश से किसानों के मायूस चेहरे खिल उठे। बारिश होने से ग्रामीणों को भीषण गर्मी से राहत मिली। कस्बे में सुबह से ही मौसम सुहावना हो गया। नोताडा कस्बे में गुरुवार को सुबह 9.52 बजे से बूंदाबांदी का हुई। बूंदाबांदी होने और बारिश की संभावना बढऩे से किसान खुश है।


मौसम विभाग ( IMD ) के निदेशक शिवगणेश ने बताया कि सप्ताहभर बाद बुधवार को मानसून ( Monsoon rain in rajasthan ) फिर पश्चिमी राजस्थान के हनुमानगढ़ और श्रीगंगानगर जिलों से होता हुआ प्रदेश में आया है। अभी बीकानेर व जैसलमेर जिलों में मानसून आना बाकी है। ऐसे में 20 जुलाई तक पूर्वी और पश्चिमी हिस्सों में हल्की बारिश ( rajasthan weather forecast ) होगी। इस बाद साइक्लोनिक सर्कुलेशन बना तो अच्छी बारिश हो सकती है। इधर, जयपुर में बुधवार शाम बूदांबांदी हुई। इससे उमस और बढ़ गई। वहीं चूरू में बुधवार को 18.9 मिलीमीटर बारिश हुई। सीकर, चूरू व झुंझुनूं जिला मुख्यालयों पर बुधवार सुबह से ही काले बादलों की आवाजाही शुरू हो गई थी। करीब आधे घंटे की बारिश में छह एमएम से अधिक बारिश हुई। चूरू में शाम करीब साढे चार बजे फिर से बारिश शुरू हो गई। दिनभर में करीब 18 एमएम बारिश दर्ज की गई। बारिश से किसानों में खुशी का माहौल है। बारिश से फसलों को काफी फायदा होगा। वहीं अगेती फसलें लहलहाने लगी हैं। नीमकाथाना में सुबह करीब दस बजे झमाझम बारिश शुरू हुई जो लगभग 15 मिनट तक जारी रही। अलवर शहर में बरसात कहीं कम तो कहीं अधिक आई। अलवर तहसील में 13 मिमी बरसात हुई, जबकि कलक्ट्रेट स्थित सिंचाई विभाग के कार्यालय में 15 मिमी बरसात दर्ज की गई।