स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

संगरिया के नगरपालिकाध्यक्ष ने पत्रकारों के बीच रखी पीड़ा

Manoj Goyal

Publish: Nov 04, 2019 11:39 AM | Updated: Nov 04, 2019 11:39 AM

Hanumangarh

कांग्रेस नगर अध्यक्ष पर लगाए शहर के विकास कार्य रोकने के आरोप


एक दर्जन से अधिक पार्षद रहे उपस्थित

हनुमानगढ़. संगरिया नगर पालिका के अध्यक्ष नत्थूराम सोनी ने एक दर्जन से अधिक पार्षदों की उपस्थिति में रविवार को प्रेस से वार्ता करते हुए कांग्रेस के नगर मंडल अध्यक्ष राजेश डोडा पर पिछले कुछ माह से शहर के विकास को बाधित करने का आरोप लगाया। उन्होने कहा कि नगरपालिका सदैव पार्टी हित से हटकर मिलजुल कर कार्य करने का स्थान रहा है परंतु पिछले छह माह से लगातार अधिशाषी अधिकारी व कनिष्ठ अभियंता के बदलाव से सामान्य कामकाज के साथ-साथ सारे निर्माण कार्य भी ठप्प पड़े हुए है। उन्होने बताया कि उनके पास वह सभी पत्र सबूत के तौर पर उपलब्ध हैं। जिसमें कांग्रेस के नगर अध्यक्ष ने शहर के निर्माण कार्य को रोकने की मांग की है।

उन्होने बताया कि कनिष्ठ अभियंता का पद रिक्त होने के चलते करणी माता मंदिर रोड, खालसा स्कूल रोड, बस स्टैण्ड का पुनर्निर्माण, गुरुद्वारा रोड, गणेश मंदिर से जम्भेश्वर मंदिर रोड तक के नाला निर्माण को सिवरेज लाईन में परिवर्तित करने, वार्ड दो में पानी निकासी के लिए जारी निर्माण कार्य के अतिरिक्त तीस लाख का मिसिंग लिंक रोड व पुलिया निर्माण के कार्य सहित निर्माण के टेंडर रुके हुए है। उन्होने कहा कि नगर मंडल अध्यक्ष व उनके सहयोगी मुख्यमंत्री को पत्र प्रेषित करते है व सम्बंधित मंत्री व विभागीय चैनल के माध्यम से कार्य को रोकने के आदेश के रुप में यहां आ जाता है।

पालिकाध्यक्ष ने कहा कि सरकार किसी भी कर्मचारी/अधिकारी की नियुक्ति करे यह उनका अधिकार है परंतु सामान्य कार्य प्रभावित नहीं हो ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए। सरकार से पूर्व में देवेंद्र कौशिक को अधिशाषी अधिकारी पद से हटाकर पवन चौधरी को नियुक्त करवाया गया। उनकी कुछ दिन आरजेएस परीक्षा से प्रभावित रहने के बाद कार्य पर लौटने पर उन्हे एपीओ करवा दिया गया। वर्तमान के अधिशाषी अधिकारी सत्यनारायण स्वामी नकारात्मक कार्यशैली के है व राजनीति से प्रभावित होकर कार्य कर रहे है। कनिष्ठ अभियंता के पद पर पूर्व वालों को एपीओ करवाने के बाद नए को पदभार ग्रहण नहीं करने दिया गया। वर्तमान में जिला कलक्टर से निवेदन कर हनुमानगढ़ के कनिष्ठ अभियंता को सप्ताह में दो दिन के लिए संगरिया का कार्य देखने के आदेश करवाए गए है।

प्रेस वार्ता में पार्षद अनिल भोबिया, स्वर्ण संगर, गगनदीप, जगदीश कुमार, जसविंद्र सिंह, विजयपाल, सत्येंद्र सिंह, पूर्व पार्षद नक्षत्र सिंह बराड़, संजीव सोनी व लखन करवा, पार्षद प्रतिनिधि सूर्यप्रकाश वर्मा, प्रेम माहौर, राजकुमार, स्वर्णकार संघ के पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र सोनी, ओम सहारण आदि उपस्थित रहे।(नसं.)

डीसीसी उपाध्यक्ष व प्रवक्ता ने भी कार्य रोकने की निंदा
डीसीसी उपाध्यक्ष संजीव सोनी व प्रवक्ता अनिल भोबिया ने शहर के विकास कार्यो को प्रभावित करने की निंदा करते हुए कहा कि शहर की जनता ने उन्हे वोट विकास के लिए दिए हैं। उन्होने कहा कि नगरपालिका बोर्ड सभी का सांझा होता है व परिवार रुप में कार्य करता है यहां राजनीति किसी भी रुप में उचित नहीं है। सरकार द्वारा जारी की गई योजना से आमजन को लाभांवित करना सरकार का भी उद्देश्य होता है व कार्य रुकवाने वाले सरकार के हित में नहीं हो सकते है।(नसं.)

'हमने भ्रष्टाचार की जांच की मांग की है
हमारे द्वारा विकास कार्यो को रोकने का नहीं भ्रष्टाचार की जांच की मांग की गई है। सवा चार वर्ष के शासन में भाजपा के पालिकाध्यक्ष द्वारा भ्रष्टाचार किए गए है। प्रक्रिया के अनुरुप टेंडर निकाले जाए, सभी ठेकेदार को समान अवसर दिए जाए व विकास कार्य करवाए जाएंगे। - राजेश डोडा, कांग्रेस नगर मंडल अध्यक्ष संगरिया।

[MORE_ADVERTISE1]