स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मतदान 16 को, 19 को होगी तस्वीर साफ, अभी से प्रत्याशियों की बाड़ा बंदी की तैयारी, हो चुकी बसों की बुकिंग

Anurag Thareja

Publish: Nov 12, 2019 12:22 PM | Updated: Nov 12, 2019 12:22 PM

Hanumangarh

मतदान 16 को, 19 को होगी तस्वीर साफ, अभी से प्रत्याशियों की बाड़ा बंदी की तैयारी, हो चुकी बसों की बुकिंग
-- निकाय चुनाव काउंट डाउन :: चार दिन शेष
- जिताऊ पर नजर, भाजपा व कांग्रेस दोनों ने करवाई बसों की बुकिंग, अब जुटे हैं जगह के चयन में


मतदान 16 को, 19 को होगी तस्वीर साफ, अभी से प्रत्याशियों की बाड़ा बंदी की तैयारी, हो चुकी बसों की बुकिंग
-- निकाय चुनाव काउंट डाउन :: चार दिन शेष
- जिताऊ पर नजर, भाजपा व कांग्रेस दोनों ने करवाई बसों की बुकिंग, अब जुटे हैं जगह के चयन में
हनुमानगढ़. निकाय चुनाव में मतदान को चार दिन शेष है। प्रत्याशियों ने प्रचार में पूरी ताकत झोंक रखी है। एक-एक मतदाता को 'टोहनेÓ की कोशिशें चल रही है। प्रत्येक घर में प्रत्याशी बार-बार जाकर वोट के लिए गुहार लगा रहे हैं और मतदाताओं के नजदीकी रिश्तेदारों से संपर्क कर दबाव दिलवाया जा रहा है। किसी तरह मतदाता मान जाएं। इस तरह के हालात से प्रत्याशी गुजर रहे हैं। मतदान 16 नवंबर को है और मतगणना 19 को है, इसी दिन पार्षदों की तस्वीर साफ होगी। लेकिन इस बीच सूत्रों के हवालें से खबर है कि जिताऊ प्रत्याशियों की बाडाबंदी के लिए भाजपा व कांग्रेस अभी से जुट चुकी है। दोनों ही दलों ने अपने-अपने पार्षदों को उठाने के लिए बसों की भी बुङ्क्षकग करवा ली है और इन्हें कहां ले जाया जाएगा, गुप्त जगह का चयन किया जा रहा है। इस काम के लिए दोनों प्रमुख दलों के विश्वसनीय सिपहसलारों को जिम्मेदारी देने की बात सामने आई है। वर्तमान में भाजपा व कांग्रेस जिताऊ उम्मीदवारों की सूची बना रही है। इसके अलावा दोनों दल कई निर्दलीय उम्मीदवारों पर भी नजर रखे हुए हैं।

निर्दलीयों की अलग से सूची
सूत्रों के अनुसार भाजपा व कांग्रेस की ओर से वार्ड वाइज गुप्त सर्वे भी करवाया जा रहा है। जहां उम्मीदवार कमजोर लग रहा है उसे जिताने के लिए पार्टी के पदाधिकारियों को प्रचार के लिए 13 व 14 नवंबर को अधिकतम होने वाली वार्ड सभा के दौरान भेजा जाएगा। इसके अलावा जिताऊ निर्दलीय प्रत्याशी की भी सूची भी अलग से बनाई जा रही है। 16 को मतदान के पश्चात ही दोनों दल जिताऊ प्रत्याशियों की बाडा बंदी करने मेंं जुट जाएंगे।
इनकी अलग होगी व्यवस्था
बाड़ाबंदी के लिए एक दल इन प्रत्याशियों को तीन बांट सकता है। पहले गुट में सभापति रेस के उम्मीदवार के साथ उसके विश्वसनीय जिताऊ उम्मीदवार होंगे। दूसरे चरण में ऐसे में उम्मीदवार जिन पर क्रोस वोटिंग करने की आशंका होने पर व तीसरे गुट में निर्दलीय जिताऊ उम्मीदवारों को रखा जा सकता है। 19 को मतगणना के दौरान परिणाम आने पर जीतने वाले उम्मीदवारों को अन्य जगह पर भेज दिया जाएगा और हारने वालों को वापस घर भेज दिया जाएगा।

*

[MORE_ADVERTISE1]