स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पानी की टंकी पर चढ़े युवक व महिला बारह घंटे बाद नीचे उतरे

Manoj Goyal

Publish: Nov 05, 2019 11:39 AM | Updated: Nov 05, 2019 11:39 AM

Hanumangarh

- देर रात्रि दो बजे परिजनों और पुलिस की समझाईश से नीचे आए

- भादरा पुलिस पर ज्यादती करने का आरोप

- झूठे मामले दर्ज कर फंसाने का प्रकरण

हनुमानगढ़. भादरा व भिरानी पुलिस पर न्याय नहीं करने व फर्जी मुकदमा दर्ज करने का आरोप लगाते हुए सोमवार दोपहर करीब दो बजे एक युवक संदीप कुमार खाती (२८) पुत्र मदन लाल, निवासी भादरा एवं एक महिला सुमन (३२) पत्नी हरदत्त जाट, निवासी बाम्बलबास कस्बे के मुख्य बस स्टेण्ड पर स्थित पानी की टंकी पर चढ़ गये व न्याय नहीं मिलने पर मरने की धमकी देने लगे। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर थाना पुलिस की टीम मौके पर पहुंची।

थाना प्रभारी एवं पुलिस उप अधीक्षक और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के अवकाश पर होने के चलते नोहर थाना प्रभारी सतवीरसिंह मीणा भादरा पहुंचे व टंकी पर चढ़े हुए युवक व महिला से वार्ता कर समझाईश की किन्तु दोनों ही अपनी- अपनी मांगों के पूरा नहीं होने तक नीचे उतरने से इंकार कर दिया। दोनों जने अलग अलग घटनाक्रम को लेकर टंकी पर चढ़े हैं। बताया जा रहा है कि दोनों ने अलग अलग प्रकरण में पुलिस पर ज्यादती करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने सुरक्षा की दृष्टि से टंकी के नीचे जाल लगाकर सुरक्षा व्यवस्था की है। पुलिस की लगातार समझाईश और निष्पक्ष कार्रवाई व जांच के आश्वासन तथा परिजनों के समझाने के बाद देर रात्रि करीब दो बजे बारह घंटे बाद दोनों नीचे उतर आए। इससे पुलिस व परिजनों की सांस में सांस आई।


टंकी पर चढ़े युवक संदीप कुमार खाती ने आरोप लगाया है कि 16 सितम्बर को दोपहर समय एक रेडीमेंट दुकान से कपड़े खरीद रहा था। उसी समय पुलिसकर्मी योगेश यादव, विकास पूनिया आये व पुलिस थाने में चलने का कहकर जबरदस्ती मोटरसाईकिल पर बिठाकर ले गये। थाने में हवलदार नरेन्द्र सिंह व हरीसिंह ने उसकी जेब की तलाशी लेकर उसके 59 सौ रूपये निकाल लिए। योगेश व विकास दोनों ने उसे मोटरसाईकिल पर बिठाकर मुन्सरी टोल नाका से होते हुए परलीका ले गये। पीछे-पीछे कार में हवलदार हरीसिंह व नरेन्द्र व दो अन्य व्यक्ति भी थे। परलीका बस स्टेण्ड की दुकान पर मेरे मोबाईल नम्बर से योगेश व विकास ने बात की ओर संदीप स्वामी नाम का एक लड़का वहां पर आया। जिसने हवलदार नरेन्द्र को 35 हजार रूपये दिए।

उस लड़के को साथ में लेकर व मुझे मोटरसाईकिल पर बिठाकर भादरा थाना लाया गया। युवक ने आरोप लगाया कि भादरा थाना में लाने के बाद संदीप स्वामी ने नरेन्द्र को पिस्तोल दिया वो पिस्तोल मेरे नाम लगाकर मुझ पर झूठा मुकदमा बना दिया। नरेन्द्र ने मुझे पीटक र जबरदस्ती कोरे कागजों पर साईन करवा लिए और मुझे गिरफ्तार कर कोर्ट मे पेश कर दिया। मुझे जज साहब को सही बात बताने का मौका भी नही दिया। उसने चारों आरोपितो की कॉल लोकेशन के साथ जांच करवाने व उसे न्याय दिलवाने की मांग की है।

दूसरी तरफ टंकी पर चढ़ी ग्राम बाम्बलबास की विवाहिता सुमन का आरोप है कि उसके साथ उसके देवर, देवरानी, ससुराल पक्ष के लोगों के साथ -साथ निनाण गांव के कुछ युवकों ने मारपीट कर छेड़छानी की व उस पर ही भिरानी पुलिस ने दो मुकदमें दर्ज कर लिये। महिला ने अपने विरूद्ध व अपनी ओर से करवाये गये दर्ज मामलों में न्याय की मांग की है।

विवाहिता का आरोप है कि सोमवार को वह अपने मामलों में न्याय की मांग को लेकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक से मिलने गई थी। जहां पर पुलिसकर्मियों ने एएसपी से नहीं मिलने दिया। इसके विरोध में टंकी पर चढ़ गए।

[MORE_ADVERTISE1]