स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बजट मिलेगा तभी होगा मास्टर प्लान के अनुरूप काम

Anurag Thareja

Publish: Dec 12, 2019 21:56 PM | Updated: Dec 12, 2019 21:56 PM

Hanumangarh

बजट मिलेगा तभी होगा मास्टर प्लान के अनुरूप काम
- भद्रकाली मार्ग पर अभी तक नहीं बढ़ाई चौड़ाई, सामाजिक सगंठनों में रोष


बजट मिलेगा तभी होगा मास्टर प्लान के अनुरूप काम
- भद्रकाली मार्ग पर अभी तक नहीं बढ़ाई चौड़ाई, सामाजिक सगंठनों में रोष

हनुमानगढ़. टाउन स्थित भद्रकाली मार्ग की चौड़ाई बढ़ाने का काम अभी तक नहीं होने पर सामाजिक संगठनों में रोष है। 2010 से संगठन के सदस्य भद्रकाली मार्ग की चौड़ाई बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। लेकिन इसकी चौड़ाई बढ़ाने की जगह बार-बार निशानदेही कर खानापूर्ति की जा रही है। जबकि दो वर्ष पूर्व मार्ग की चौड़ाई बढ़ाने के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग ने फाइल जयपुर भेजी थी। लेकिन अभी तक बजट की स्वीकृति नहीं मिलने के कारण योजना अधर में हैं। इससे स्थानीय किसानों में भी रोष है। सामाजिक संगठन ऐतिहासिक भद्रकाली मंदिर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए मास्टर प्लान के अनुरूप सड़क निर्माण की मांग कर रहे हैं। ताकि आए दिन होने वाली दुर्घटनाओं पर लगाम लग सके और मंदिर आने-जाने के लिए श्रद्धालुओं को परेशानी भी न हो। इसके लिए दर्जनों बार जिला प्रशासन से लेकर मंत्री व विधायक तक को ज्ञापन भी दिए जा चुके हैं। लेकिन हालात जस के तस हैं। गौरतलब है कि दो वर्ष पूर्व पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने इस मार्ग की चौड़ाई बढ़ाकर निशानदेही की थी। सामाजिक संगठन के सदस्यों ने किसानों को निशानदेही के उसपार खेती नहीं करने की समझाइश की तो किसान मान भी गए। लेकिन पीडब्ल्यूडी के अधिकारी बजट की स्वीकृति लेने की बजाए, हाथ पर हाथ रख कर बैठ गए।

अपने स्तर पर की कार्यवाही
किसान भगवान सिंह खुडी ने बताया कि सार्वजनिक निर्माण विभाग के अलावा जिला प्रशासन के अधिकारियों के पास दर्जनों बार चक्कर लगा चुके हैं। लेकिन भद्रकाली मार्ग की चौड़ाई बढ़ाने के लिए कोई कार्रवाही नहीं हुई तो किसानों ने अपने स्तर पर सड़क किनारे झाडिय़़ों की कटाई कर साफ-सफाई करवाई ताकि श्रद्धालुओं को आने-जाने में परेशानी नहीं हो।

मास्टर प्लान में 82.5 फीट मार्ग
भद्रकाली मार्ग की चौड़ाई मास्टर प्लान में 82.5 फीट है। लेकिन हकीकत में 15 से 18 फीट मार्ग की चौड़ाई होने के कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती हैं। मार्ग संकरा होने के साथ-साथ स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था नहीं होने पर सर्दियों में कोहरा होने के कारण सबसे अधिक दुर्घटनाएं होती हैं।

पांच करोड़ के बजट का इंतजार
करीब दो वर्ष बाद फिर से सार्वजनिक निर्माण विभाग ने आगामी बजट घोषणा में शामिल करने के लिए भद्रकाली मार्ग की चौड़ाई बढ़ाने के कारण पांच करोड़ का प्रस्ताव तैयार कर जयपुर मुख्यालय फिर से भिजवाया है। बजट सत्र के दौरान इसी स्वीकृति मिलने पर ही सड़क की चौड़ाई बढ़ाने से संबंधित कार्यवाही होगी।


**************

[MORE_ADVERTISE1]