स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हनुमानगढ़ की साढ़े चार हजार से अधिक बेटियों को मिलेगा पुरस्कार

Adrish Khan

Publish: Jan 21, 2020 11:36 AM | Updated: Jan 21, 2020 11:36 AM

Hanumangarh

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. इस बार जिले में साढ़े चार हजार से अधिक मेधावी बेटियों को गार्गी व बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार से नवाजा जाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग ने शाला दर्पण पर ऑनलाइन आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए 29 जनवरी अंतिम तिथि तय की गई है।

हनुमानगढ़ की साढ़े चार हजार से अधिक बेटियों को मिलेगा पुरस्कार
- गार्गी व बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार वितरण की तिथि तय
हनुमानगढ़. इस बार जिले में साढ़े चार हजार से अधिक मेधावी बेटियों को गार्गी व बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार से नवाजा जाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग ने शाला दर्पण पर ऑनलाइन आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसके लिए 29 जनवरी अंतिम तिथि तय की गई है। जबकि गत वर्ष गार्गी पुरस्कार हासिल करने वाली छात्राएं द्वितीय किस्त की राशि के लिए ऑफलाइन आवेदन कर सकती हैं। यह आवेदन उनको संबंधित सीबीईओ कार्यालय में जमा कराने होंगे। यद्यपि पुरस्कार समारोह को लेकर अभी दिशा-निर्देश जारी नहीं किए गए हैं। सामान्यत: यह पुरस्कार बसंत पंचमी पर बांटे जाते हैं। मगर अब तक शिक्षा विभाग ने बसंत पंचमी पर समारोह आयोजन को लेकर डीईओ को कोई निर्देश नहीं दिए हैं। गार्गी व बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार के साथ ही इंदिरा प्रियदर्शिनी पुरस्कार बांटे जाने की संभावना है। क्योंकि नवम्बर में इंदिरा गांधी जयंती पर दिए जाने वाला यह पुरस्कार तब नगरीय निकाय चुनाव आचार संहिता के चलते नहीं बांटे गए थे। पुरस्कार वितरण स्थगित कर दिया गया था।


कक्षा व वर्गवार क्या स्थिति
जानकारी के अनुसार कक्षा 12 की 2954 छात्राओं को इस बार बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इसमें कक्षा 12 विज्ञान वर्ग की 1092, कला वर्ग की 1813 व वाणिज्य वर्ग की 49 छात्राएं शामिल हैं। जबकि कक्षा 10 की 1662 छात्राओं को गार्गी पुरस्कार दिया जाएगा। इसके अलावा प्रवेशिका में एक तथा वरिष्ठ उपाध्याय के लिए तीन छात्राओं को पुरस्कार दिया जाएगा। बालिका फाउंडेशन की ओर से पुरस्कार के तहत कक्षा दसवीं की छात्राओं को छह हजार रुपए तीन-तीन हजार की दो किस्तों में दिए जाते हैं। कक्षा बारहवीं की छात्राओं को पांच हजार रुपए एक मुश्त दिए जाते हैं।


किनको पुरस्कार
कक्षा दस में 75 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाली छात्राओं को यह पुरस्कार दिए जाते हैं। बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार के लिए संकायवार कट ऑफ माक्र्स सूची जारी की जाती है। जबकि पद्माक्षी पुरस्कार कक्षा आठ, दस व बारहवीं की उन छात्राओं को दिया जाता है जो अपनी-अपनी श्रेणी में जिला टॉपर होती हैं।

[MORE_ADVERTISE1]