स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

लॉटरी स्थल पर ही कई उम्मीदवार बोले 'अब तो दूसरे वार्ड में जाकर चुनाव लडऩों पड़सीÓ

Anurag Thareja

Publish: Sep 18, 2019 21:42 PM | Updated: Sep 18, 2019 21:42 PM

Hanumangarh

60 वार्ड में 19 वार्डों में महिला होंगी उम्मीदवार
कईयों के चेहरों पर छाई मायूसी, लॉटरी स्थल पर ही कई उम्मीदवार बोले 'अब तो दूसरे वार्ड में जाकर चुनाव लडऩों पड़सीÓ

60 वार्ड में 19 वार्डों में महिला होंगी उम्मीदवार
कईयों के चेहरों पर छाई मायूसी, लॉटरी स्थल पर ही कई उम्मीदवार बोले 'अब तो दूसरे वार्ड में जाकर चुनाव लडऩों पड़सीÓ
हनुमानगढ़. इस बार नंवबर में होने वाला निकाय चुनाव बड़ा ही दिलचस्प होगा। 60 में से 19 वार्डों में महिला उम्मीदवार होंगी। जहां टाउन में वार्ड 29 से 32 तक सभी चारों वार्ड सामान्य महिला के आरक्षित हुए हैं। इसी तरह वार्ड 45, 47, 49, 50, 52 भी सामान्य महिला के लिए आरक्षित हुआ है। इसके अलावा वार्ड नंबर 19, 20 व 06 भी सामान्य महिला के लिए लॉटरी के जरिए आरक्षित हुआ है। खासबात है कि इस बार आपस में सीमा से लगते से ज्यादातर वार्ड एक जैसे होंगे। जहां महिला उम्मीदवारों में मुकाबला भी जबरदस्त होगा। 60 में से ओबीसी महिला के चार वार्ड आरक्षित किए गए हैं। इनके वार्ड नंबर 13, 42, 44 व 58 है। इसके अलावा अनुसूचित जाति के तीन वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित रखे गए हैं। इसमें वार्ड नंबर, 10, 15 व 59 में अनुसूचित जाति की महिला उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगी। यह निर्णय लॉटरी के जरिए बुधवार को जिला कलक्ट्रेट सभागार में हुआ। वार्डों के आरक्षण निर्धारण करने के लिए लॉटरी की प्रक्रिया दोपहर 12 बजे से जिला कलक्ट्रेट सभागार में शुरू हुई। सबसे पहले अनुसूचित जाति के दस वार्डों का निर्धारण जनसंख्या के आधार पर किया गया। इसके बाद इसी श्रेणी में तीन वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित लॉटरी के माध्यम से किया गया। इसके पश्चात ओबीसी वार्ड के लिए निर्धारत 13 लॉटरी निकाली गई। इन लॉटरी में से चार वार्ड महिला उम्मीदवार के लिए आरक्षित करते हुए लॉटरी के माध्यम से चार पर्चियां निकालकर आरक्षण का निर्धारण किया गया है। लॉटरी के दौरान भावी उम्मीदवारों के अनुसार आरक्षित होने पर सभागार में कईयों के चेहरों पर मायूसी छा गई। कई तो वहां बैठे ही बोल पड़े अब तो दूसरे वार्ड में जाकर चुनाव लडऩों पड़सी और कईयों ने लॉटरी खत्म होने के बाद सभागार से बाहर आकर अन्य वार्डों में कूदने के लिए आरक्षण सूची को बारिकी से पढऩा शुरू कर दिया।

इस तरह निकली लॉटरी
सबसे पहले अनुसूचित जाति के दस वार्डों का आरक्षण जनसंख्या के आधार पर किया गया। हालांकि पत्रिका ने पहले ही बता दिया था कि हनुमानगढ़ के 60 वार्डों में से 13 वार्ड ऐसे हैं जिनमें अनुसूचित जाति की जनसंख्या 650 से अधिक है। इनमें से ही दस वार्डों के आरक्षण का निर्धारण होगा। लॉटरी की प्रक्रिया के दौरान सर्वाधिक अनुसूचित जाति जनसंख्या वाले दस वार्डों के आरक्षण का निर्धारण किया गया। वार्ड 02, 03, 10, 15, 27, 35, 36, 41, 56 व 59 में अनुसूचित जाति के उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे। इसमें से एक तिहाई के तहत तीन वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित करने के लिए अनुसूचित जाति के दस वार्डों में से तीन वार्ड की लॉटरी निकालकर आरक्षित किए गए। यह वार्ड 10, 15 व 59 हैं। वार्ड नंबर दो में अनुसूचित जाति की जनसंख्या 890 है, वार्ड 03 में 850, 10 में 1330, 15 में 846, 27 में 847, 41 में 755, 56 में 1524 व 59 नंबर वार्ड में 954 जनसंख्या है। अनुसूचित जाति के वार्डों के आरक्षण का निर्धारण करने के पश्चात अनुसूचित जनजाति के वार्ड का निर्धारण भी जनसंख्या के आधार पर किया गया। इसके लिए वार्ड 38 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित किया गया। क्योंकि इस वार्ड में इस जाति की जनसंख्या 357 के करीब है।

ओबीसी के यह होंगे वार्ड
शेष रहे वार्डों के आरक्षण का निर्धारण लॉटरी के माध्यम से किया गया। ओबीसी के वार्ड 04, 05, 08, 11, 13, 24, 26, 34, 40, 42, 44, 48 व 58 हैं। इनमें से एक तिहाई वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित रखने के लिए इन वार्डों की दोबारा लॉटरी निकाली गई। इसके चलते ओबीसी महिला के वार्ड 13, 42, 44 व 58 आरक्षित किए गए।

अन्य सभी 36 वार्ड सामान्य के
लॉटरी की प्रक्रिया के अंत में 36 वार्ड सामान्य के रह गए। इनमें से 12 वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित करने के लिए लॉटरी निकाली गई। वार्ड 06, 19 व 20, 29, 30, 31, 32, 45, 47, 49, 50, 52 सामान्य महिलाओं के लिए आरक्षित हुए हैं। शेष बचे वार्ड 01, 07, 09, 12, 14. 16, 17, 18, 21, 22, 23, 25, 28, 33, 37, 39, 43, 46, 51, 53, 54, 55, 57 व 60 में सामान्य जाति के पुरूष निकाय चुनाव में अपनी उम्मीदवार जता सकेंगे।

सभापति के आरक्षण की लॉटरी पर सबकी नजर
निकाय चुनाव में वार्डों के आरक्षण का निर्धारण होने पर अब सबकी नजर जयपुर में सभापति सीट के आरक्षण की होने वाले लॉटरी पर है। क्योंकि इस बार सभापति का चुनाव सीधे तौर पर जनता के द्वारा होगा। सभापति चुनाव लडऩे के लिए टाउन व जंक्शन में विभिन्न जातियों के दर्जनों जनप्रतिनिधि अपनी उम्मीदवारी जता रहे हैं।

शहरी क्षेत्र की जनसंख्या का गणित
हनुमानगढ़ शहरी क्षेत्र में 2011 की जनगणना के अनुसार कुल जनसंख्या 150958 के करीब है। इसमें से 79709 पुरूष की जनसंख्या व 71249 महिलाओं की जनसंख्या है। शहरी क्षेत्र में सामान्य जाति की जनसंख्या 123009, अनुसूचित जाति की जनसंख्या 25486 है, अनुसूचित जनजाति की जनसंख्या 2463 है। शहरी क्षेत्र की जनसंख्या धर्म आधार पर इस प्रकार से हैं। इसमें हिन्दू की जनसंख्या 124049, सिख समुदाय की जनसंख्या 14724, मुस्लिम समुदाय की जनसंख्या 11072, 598 जैन समाज की जनसंख्या, ईसाई 296 जनसंख्या 2011 जनसंख्या जनगणना के आधार पर है।

वार्डोंं की यह है स्थिति
हनुमानगढ़ में वर्तमान में 45 पार्षद हैं। राज्य सरकार के निर्देशानुसार पुनर्गठन कर 60 वार्ड किए जा चुके हैं। निकाय चुनाव नवंबर 2019 में 36 सामान्य वार्ड, इनमें से 12 वार्डों में महिलाओं के चुनाव लडऩे के लिए आरक्षित है। अन्य पिछड़ा वर्ग के 13 वार्ड , इनमें से चार वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित रखे गए। 10 वार्ड अनुसूचित जाति के होंगे, इनमें तीन वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। व एक वार्ड अनुसूचित जनजाति का है। यह आरक्षण राज्य सरकार ने 16 अगस्त को कर दिया था। बुधवार को लॉटरी के माध्यम से इन वार्डों का निर्धारण किया गया।

इनकी अध्यक्षता में निकाली लॉटरी
सभागार में जिला कलक्टर जाकिर हुसैन, एडीएम अशोक असीजा, एसडीएम कपिल यादव की अध्यक्षता में लॉटरी निकाली गई। इस मौके पर आयुक्त शैलेन्द्र गोदारा, अधिशासी अभियंता सुभाष बंसल, एटीपी रामनिवास, हंसराज वर्मा, कृष्ण नेहरा, पार्षद राजेंद्र बैद, उपसभापति नगीना बाई, गणेश बंसल, सुमित रिणवां, अनिल खीचड़, लड्डू कबाडिय़ा, हाकम, प्रदीप ऐरी, महादेव भार्गव, कालूराम शर्मा, नारायण नायक, सुरेश महायच, इशाक खान, सुरेंद्र गोंद, राजेश मदान, महेश शर्मा, राजेंद्र चौधरी, मदन खदरिया आदि

******