स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बदलेंगे मंडी समिति का स्वरूप, विकास का प्लान बनाया

Purushotam Jha

Publish: Nov 13, 2019 10:58 AM | Updated: Nov 13, 2019 10:58 AM

Hanumangarh

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. जंक्शन व टाउन मंडी समिति का स्वरूप आने वाले दिनों में बदल जाएगा। इसे लेकर मंडी समिति हनुमानगढ़ के सचिव ने प्लान बनाकर मुख्यालय को भिजवाया है। उच्च स्तर से मंजूरी मिलते ही विकास संबंधी सभी काम शुरू होने की उम्मीद है। मंडी समिति सचिव ने विकास का जो प्लान बनाया है, उसमें टाउन मंडी समिति कार्यालय परिसर में सोलर सिस्टम लगाने, सभी मंडियों में ट्रेफिक सिग्नल सिस्टम लगाने, नए पिड बनाने, जंक्शन मंडी समिति कार्यालय में बने किसान भवन का मरम्मत करवाने व

बदलेंगे मंडी समिति का स्वरूप, विकास का प्लान बनाया

उच्च स्तर से मंजूरी मिलते ही शुरू होगा काम
.........फोटो.......
हनुमानगढ़. जंक्शन व टाउन मंडी समिति का स्वरूप आने वाले दिनों में बदल जाएगा। इसे लेकर मंडी समिति हनुमानगढ़ के सचिव ने प्लान बनाकर मुख्यालय को भिजवाया है। उच्च स्तर से मंजूरी मिलते ही विकास संबंधी सभी काम शुरू होने की उम्मीद है। मंडी समिति सचिव ने विकास का जो प्लान बनाया है, उसमें टाउन मंडी समिति कार्यालय परिसर में सोलर सिस्टम लगाने, सभी मंडियों में ट्रेफिक सिग्नल सिस्टम लगाने, नए पिड बनाने, जंक्शन मंडी समिति कार्यालय में बने किसान भवन का मरम्मत करवाने व सतीपुरा बाइपास पर एकल सब्जी मंडी विकसित करने आदि का उल्लेख किया गया है।
इसके साथ ही सतीपुरा में एकल सब्जी मंडी विकसित करने की कवायद भी तेज कर दी गई है। इसे लेकर मंडी समिति ने हनुमानगढ़ नगरपरिषद को भूमि पेटे करीब ढाई करोड़ की राशि जमा करवा दी है। इसके बाद भूमि का नामांतरण भी हो गया है। अब शहर में एकल सब्जी मंडी की प्रस्तावित भूमि पर चार दिवारी करवाने के लिए करीब एक करोड़ रुपए खर्च करने को लेकर मुख्यालय से अनुमति मांगी गई है। मंजूरी मिलते ही काम शुरू कर दिया जाएगा। सबकुछ यदि तय प्लानिंग के तहत हुआ तो आने वाले दिनों में टाउन मंडी समिति कार्यालय सूरज की रोशनी से रोशन होता हुआ नजर आएगा। पहले चरण में केवल मंडी समिति कार्यालय टाउन में सोलर सिस्टम लगाया जाएगा। लेकिन बाद में पूरे मंडी में सोलर लाइटें लगाने की योजना है।

किस पर कितना खर्च
मंडी समिति हनुमानगढ़ के प्रबंधन ने जो प्रस्ताव बनाया है। उसमें एकल सब्जी मंडी की चार दिवारी करवाने पर एक करोड़, कृषि उपज मंडी समिति कार्यालय जंक्शन के मरम्मत पर ४९.५० लाख, किसान भवन के मरम्मत पर २७.९० लाख, मंडियों में संकेतक लगाने व ट्रेफिक सिग्नल लगाने पर २२.५० लाख व नए पिड बनाने पर ४९.२० लाख रुपए खर्च होने का अनुमान है। इसके अलावा टाउन मंडी समिति कार्यालय में सोलर सिस्टम लगाने पर बीस लाख रुपए खर्च होंगे। हनुमानगढ़ मंडी समिति कार्यालय से जंक्शन, टाउन व डबलीराठान मंडी जुड़ी हुई है। इन तीनों मंडियों के विकास का प्लान हनुमानगढ़ मंडी समिति कार्यालय की ओर से तैयार किया जाता है।

मंडी कारोबार पर नजर
जिले में रबी की प्रमुख फसल गेहूं मानी जाती है। गत रबी सीजन में गेहूं की अच्छी आवक होने से मंडी की आर्थिक स्थिति मजबूत हुई। अप्रैल २०१८ से अक्टूबर २०१८ के बीच हनुमानगढ़ मंडी में कुल २४८३०२२ क्विंटल आवक हुई है। इसी तरह अप्रेल २०१९ से अक्टूबर २०१९ के बीच गेहूं की आवक २६८८५५४ क्विंटल हुई। इस तरह अप्रैल २०१८ से अक्टूबर २०१८ तक कृषि उपज मंडी समिति हनुमानगढ़ में ९३३३३८.०९ लाख रुपए का कारोबार हुआ था। जो अप्रेल २०१९ से अक्टूबर २०१९ में ९५२८१.९१ लाख रुपए हो गया।

......फैक्ट फाइल.....
-एकल सब्जी मंडी विकसित करने को लेकर ०१ करोड़ रुपए खर्च होंगे चार दिवारी पर।
-मंडियों में संकेतक लगाने व ट्रेफिक सिग्नल लगाने पर २२.५० लाख रुपए लगने का अनुमान।
-मंडी समिति हनुमानगढ़ में अप्रेल २०१९ से अक्टूबर २०१९ के बीच ९५२८१.९१ लाख रुपए का हुआ कारोबार।
-हनुमानगढ़ टाउन मंडी समिति कार्यालय में सोलर सिस्टम लगाने पर होंगे २० लाख रुपए खर्च।

......वर्जन....
प्लान किया तैयार
मंडी समिति में विकास कार्य करवाने को लेकर प्रस्ताव बनाकर भिजवाए गए हैं। मुख्यालय से मंजूरी मिलने के बाद काम शुरू करवाए जाएंगे। एकल सब्जी मंडी की चार दिवारी करवाने के साथ ही धान मंडी में पिड बनाने, किसान भवन का मरम्मत करवाने सहित अन्य प्रमुख कार्य प्रस्तावित हैं।
सीएल वर्मा, सचिव, मंडी समिति हनुमानगढ़

[MORE_ADVERTISE1]