स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रतलाम में पड़ताल, सप्लायर का नहीं लगा पता

Anurag Thareja

Publish: Oct 16, 2019 11:45 AM | Updated: Oct 16, 2019 11:45 AM

Hanumangarh

रतलाम में पड़ताल, सप्लायर का नहीं लगा पता

 

हनुमानगढ़. चने की आड़ में पोस्त तस्करी के मामले में गिरफ्तार ट्रक चालक व परिचालक को साथ लेकर रतलाम गई जंक्शन पुलिस की टीम वहां पड़ताल में जुटी है।

रतलाम में पड़ताल, सप्लायर का नहीं लगा पता

हनुमानगढ़. चने की आड़ में पोस्त तस्करी के मामले में गिरफ्तार ट्रक चालक व परिचालक को साथ लेकर रतलाम गई जंक्शन पुलिस की टीम वहां पड़ताल में जुटी है। यद्यपि पोस्त सप्लायर के बारे में पुलिस को कोई सुराग नहीं लग सका है।
आरोपी मंगतपाल (32) पुत्र हरभजन सिंह जटसिख व मलकीत सिंह (50) पुत्र इन्द्रसिंह कम्बोज दोनों निवासी हारणी पीएस सदर ऐलनाबाद, हरियाणा को साथ लेकर रतलाम गई पुलिस टीम ने वहां उस होटल के पास जगह की तस्दीक की जहां उन्हें पोस्त उपलब्ध करवाया गया था। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि पोस्त की आपूर्ति करने वाले का कारिंदा होटल के पास से ट्रक ले गया तथा उसमें दस क्विंटल डोडा पोस्त भरकर वापस सौंप दिया। किसी छोटू नाम के व्यक्ति ने ट्रक में पोस्त भरवाया था।
हालांकि उस व्यक्ति के नाम की तस्दीक नहीं हो पाई। एसआई जगदीश सिंह व एएसआई रामेश्वरलाल सिंवर के नेतृत्व में रतलाम गई पुलिस टीम मंगलवार को हनुमानगढ़ लौट आई। दोनों आरोपी आठ दिन की रिमांड पर हैं। दोनों आरोपियों ने पूछताछ में बताया था कि वे मध्यप्रदेश के रतलाम से ट्रक में पोस्त भरकर लाए थे। उन्हें संगरिया क्षेत्र में पोस्त की डिलीवरी देनी थी।
गौरतलब है कि गुरुवार सुबह जंक्शन पुलिस ने थाने के पास पीछा कर ट्रक रुकवाया। जांच की तो ट्रक में ऊपर सफेद चने भरे हुए थे। उनके नीचे 40 थैलों में दस क्विंटल डोडा पोस्त भरा हुआ था। जब्त पोस्त की अनुमानित कीमत करीब 50 लाख रुपए मानी गई है। इस पर डोडा पोस्त व ट्रक आरजे 19 जीडी 7021 कब्जे में
लेकर मौके से मंगतपाल व मलकीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया।