स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

होटल के कमरे में लगाई फांसी, एक सप्ताह से रुका हुआ था आन्ध्रप्रदेश निवासी युवक

Anurag Thareja

Publish: Oct 14, 2019 22:44 PM | Updated: Oct 14, 2019 22:44 PM

Hanumangarh

होटल के कमरे में लगाई फांसी एक सप्ताह से रुका हुआ था आन्ध्रप्रदेश निवासी युवक हनुमानगढ़. जंक्शन स्थित एक होटल में रविवार रात किसी समय युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना का पता सोमवार दोपहर बाद चला। जब युवक ने सुबह से लेकर दोपहर तक कमरा नहीं खोला तो होटल कर्मियों ने पड़ताल की। भीतर युवक का शव फंदे से झूल रहा था। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मौका मुआयना कर शव को जिला चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया। अभी तक घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है। मौके से कोई सुसाइड नोट वगैरह भी पुल

होटल के कमरे में लगाई फांसी
एक सप्ताह से रुका हुआ था आन्ध्रप्रदेश निवासी युवक
हनुमानगढ़. जंक्शन स्थित एक होटल में रविवार रात किसी समय युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना का पता सोमवार दोपहर बाद चला। जब युवक ने सुबह से लेकर दोपहर तक कमरा नहीं खोला तो होटल कर्मियों ने पड़ताल की। भीतर युवक का शव फंदे से झूल रहा था। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मौका मुआयना कर शव को जिला चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया। अभी तक घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है। मौके से कोई सुसाइड नोट वगैरह भी पुलिस को नहीं मिला है।
जानकारी के अनुसार जंक्शन स्थित होटल विक्की प्लाजा के कमरा नंबर 202 में सात अक्टूबर को अभिजीत भारद्वाज (25) पुत्र वेंकेटेश्वर निवासी श्रीनगर कॉलोनी, करीमनगर, आन्ध्रप्रदेश रुका था। उसने होटल कर्मियों को निजी कार्य से रुकने की जानकारी दी। वह अक्सर दोपहर करीब डेढ़ बजे होटल के कमरे से अन्यत्र जाता था। इसके बाद रात्रि को वापस आ जाता। रविवार रात्रि को खाना खाने के बाद वह होटल के कमरे में चला गया। सोमवार दोपहर तक अभिजीत कमरे से बाहर नहीं आया। इस पर होटल कर्मियों ने गेट खुलवाने का प्रयास किया। लेकिन कोई हलचल नहीं हुई।
अपराह्न करीब तीन बजे होटल कर्मियों ने कमरे के पीछे बनी गैलरी में जाकर खिड़की से अंदर देखा तो अभिजीत का चादर से पंखे पर बनाए फंदे पर झूल रहा था। होटल कर्मियों ने इसकी जानकारी अपने मालिक को दी। होटल मालिक की सूचना पर जंक्शन पुलिस थाने के उप निरीक्षक सुरेन्द्र बिश्नोई व सहायक उप निरीक्षक विनोद कुमार मौके पर पहुंचे तथा कमरे का गेट खुलवाया। पुलिस ने मौका मुआयना कर शव को नीचे उतार टाउन स्थित राजकीय जिला चिकित्सालय के मोर्चरी रूम में रखवाया।
पिता ने किया
मोबाइल फोन बंद
पुलिस के अनुसार मृतक अभिजीत भारद्वाज का मोबाइल फोन चेक किया तो उसमें उसके यूएसए में रहने वाले रिश्तेदार का नंबर मिला। उस नंबर पर वाट्सअप कॉल कर अभिजीत के पिता वेकेंटेश्वर का मोबाइल नंबर लिया। लेकिन जब अभिजीत के पिता को कॉल की तो उन्होंने गलत नंबर कहकर फोन काट दिया। दोबारा कॉल की तो अभिजीत के पिता का मोबाइल बंद हो गया। एसआई बिश्नोई के अनुसार अभिजीत के आत्महत्या करने की जानकारी देने के बावजूद उसके पिता ने गलत नम्बर कहकर फोन क्यों काटा इसकी पड़ताल की जा रही है। इसके लिए मृतक के परिजनों से सम्पर्क करने का प्रयास किया जा रहा है।