स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रदेश के सरकारी अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में क्रमोन्नत करने की कवायद शुरू

Anurag Thareja

Publish: Sep 19, 2019 22:25 PM | Updated: Sep 19, 2019 22:25 PM

Hanumangarh

प्रदेश के सरकारी अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में क्रमोन्नत करने की कवायद शुरू - राज्य सरकार ने जिला अस्पताल के पीएमओ को दिए निर्देश हनुमानगढ़. प्रदेश के सरकारी अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में क्रमोन्नत करने की राज्य सरकार ने कवायद शुरू कर दी है। इसके चलते चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग निदेशक ने पत्र जारी कर अलवर, बांसवाड़ा, बांरा, बुंदी, चितौडगढ़़, दौसा, गंगानगर, हनुमानगढ़, झुंझुनू, जालौर, जैसलमेर, करौली, नागौर, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सिरोही, टौंक के प्रमुख चिकित्सा प्रभारी को मेडिकल कॉल


प्रदेश के सरकारी अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में क्रमोन्नत करने की कवायद शुरू
- राज्य सरकार ने जिला अस्पताल के पीएमओ को दिए निर्देश

हनुमानगढ़. प्रदेश के सरकारी अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में क्रमोन्नत करने की राज्य सरकार ने कवायद शुरू कर दी है। इसके चलते चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग निदेशक ने पत्र जारी कर अलवर, बांसवाड़ा, बांरा, बुंदी, चितौडगढ़़, दौसा, गंगानगर, हनुमानगढ़, झुंझुनू, जालौर, जैसलमेर, करौली, नागौर, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सिरोही, टौंक के प्रमुख चिकित्सा प्रभारी को मेडिकल कॉलेज के लिए भूमि के अवांटन कराने के निर्देश दिए हैं। बताया जा रहा है कि अब जिला अस्पताल के पीएमओ इस आदेश के तर्ज पर जिला कलक्टर को पत्र लिख मेडिकल कॉलेज के भूमि आवंटन की मांग करेंगे। जिला स्तर पर सौ से डेढ़ सौ बैड का मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा। भूमि आवंंटन की प्रक्रिया के बाद आरएसआरडीसी डीपीआर तैयार कर वित्तीय स्वीकृति के लिए केंद्र सरकार को भिजवाएगा। जानकारी के अनुसार हनुमानगढ़ निकाय क्षेत्र के 2035 के मास्टर प्लान में जंक्शन स्थित बाइपास पर नगर परिषद ने मेडिकल कॉलेज की जगह निर्धारित कर रखी है। सरकारी नियमों के अनुसार न्यूनतम सौ बैड के मेडिकल कॉलेज के लिए 38 बीघा भूमि की आवश्यकता होगी।
****


प्रदेश के सरकारी अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में क्रमोन्नत करने की कवायद शुरू
- राज्य सरकार ने जिला अस्पताल के पीएमओ को दिए निर्देश

हनुमानगढ़. प्रदेश के सरकारी अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में क्रमोन्नत करने की राज्य सरकार ने कवायद शुरू कर दी है। इसके चलते चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग निदेशक ने पत्र जारी कर अलवर, बांसवाड़ा, बांरा, बुंदी, चितौडगढ़़, दौसा, गंगानगर, हनुमानगढ़, झुंझुनू, जालौर, जैसलमेर, करौली, नागौर, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सिरोही, टौंक के प्रमुख चिकित्सा प्रभारी को मेडिकल कॉलेज के लिए भूमि के अवांटन कराने के निर्देश दिए हैं। बताया जा रहा है कि अब जिला अस्पताल के पीएमओ इस आदेश के तर्ज पर जिला कलक्टर को पत्र लिख मेडिकल कॉलेज के भूमि आवंटन की मांग करेंगे। जिला स्तर पर सौ से डेढ़ सौ बैड का मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा। भूमि आवंंटन की प्रक्रिया के बाद आरएसआरडीसी डीपीआर तैयार कर वित्तीय स्वीकृति के लिए केंद्र सरकार को भिजवाएगा। जानकारी के अनुसार हनुमानगढ़ निकाय क्षेत्र के 2035 के मास्टर प्लान में जंक्शन स्थित बाइपास पर नगर परिषद ने मेडिकल कॉलेज की जगह निर्धारित कर रखी है। सरकारी नियमों के अनुसार न्यूनतम सौ बैड के मेडिकल कॉलेज के लिए 38 बीघा भूमि की आवश्यकता होगी।
****