स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुलिस पर हमला और पत्थरबाजी के 11 आरोपियों को मिली ये सजा

abdul bari

Publish: Nov 08, 2019 19:14 PM | Updated: Nov 08, 2019 19:26 PM

Hanumangarh

पुलिस पर हमला ( attack on police ) कर पत्थरबाजी से चोट पहुंचाने वाले 11 आरोपियों को सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट राजीव जांगिड़ ने शुक्रवार को विभिन्न धाराओं में अलग अलग सजा सुनाई। ( hanumangarh crime news )

पीलीबंगा.
वर्ष 2005 में मतदान केन्द्र के पास पुलिस पर हमला ( Attack on police ) कर पत्थरबाजी से चोट पहुंचाने वाले 11 आरोपियों को सिविल न्यायाधीश एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट राजीव जांगिड़ ने शुक्रवार को विभिन्न धाराओं में अलग अलग सजा सुनाई।

यह है पूरा मामला ( hanumangarh crime news )

प्रकरण के अनुसार 17 अगस्त 2005 को हेडकांस्टेबल बलवंतराम ने रिपोर्ट दी कि वह थाना प्रभारी भूराराम के साथ नगरपालिका चुनाव के दृष्टिगत मतदान केन्द्र चेक कर रहे थे तभी एएसआई मदनगोपाल ने सूचना दी कि वार्ड नं 22 में एक निजी स्कूल में फर्जी मतदान को लेकर झगड़ा हो रहा है।

थाना प्रभारी पुलिस जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे तो मतदान केन्द्र के बाहर निर्दलीय प्रत्याशी शारदादेवी व कांग्रेस प्रत्याशी गोपीराम सुथार मिले जिन्होंने बताया कि एजेंट फर्जी मतदान करवा रहे हैं। एक लड़के द्वारा फर्जी मतदान की सूचना को लेकर जांच करने निकले और पुलिस लड़के को साथ ले जाने लगी तो तो मौके पर प्रत्याशियों के समर्थक उत्तेजित होकर पत्थरबाजी करने लगे। जिनमें मुख्य रूप से जगदीश व देवीलाल शामिल थे। मौके पर मौजूद गोपीराम ने भीड़ को उकसा दिया इससे भीड़ ने पुलिस व पुलिस के वाहन पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। मौके पर लोगों में भगदड़ मच गई।


इन पुलिसकर्मियों के आई थी चोट ( hanumangarh police )

पत्थरबाजी से थाना प्रभारी भूराराम, एचसी लाखनसिंह, विजय कुमार, मुरली तथा एक महिला कांस्टेबल के चोटें आई। हुड़दंगियों ने पुलिस की गाड़ी को क्षतिग्रस्त कर दिया। थाना प्रभारी ने पुलिस उपाधीक्षक को सूचित कर अतिरिक्त जाब्ता मंगवाया तथा मौके पर पत्थरबाजी करने वाले आरोपी देवीलाल भाट, चानणराम भाट, जगदीश भाट, बुधराम, करतार भाट, सहीराम, जगसीरसिंह बाजीगर, बनवारी भाट, शारदादेवी पत्नि देवीलाल भाट, गोपीराम , रजीराम भाट, सुनील दोलतांवाली, मुखराम बावरी भागसर को गिरफ्तार कर लिया गया।


राजकीय कार्य में बाधा व सरकारी वाहन को क्षति पहुंचाने के आरोप में कार्रवाई

इन सभी आरोपियों के खिलाफ राजकीय कार्य में बाधा डालने व सरकारी वाहन को क्षति पहुंचाने के आरोप में कार्रवाई की गई। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ न्यायालय में चालान पेश किया। न्यायालय में दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद न्यायाधीश राजीव जांगिड़ ने गुरूवार को वार्ड नं 22 निवासी आरोपी देवीलाल, जगदीश, बुधराम, सहीराम, जगसीर, शारदादेवी, गोपीराम, रजीराम, सुनील, मुखराम व बनवारीलाल को धारा 332 में 3 साल, धारा 353 में 2 साल, धारा 147 में 2 साल, धारा 143 में 6 माह की सजा सुनाई। राज्य की ओर से पैरवी सहायक अभियोजन अधिकारी सत्येन्द्र आसेरी ने की।

यह खबरें भी पढ़ें...

राममंदिर पर फैसले से पहले सरकार अलर्ट, CM गहलोत ने ली बैठक

पांच हजार की रिश्वत लेते कांस्टेबल को रंगे हाथो किया गिरफ्तार


जयपुर में मानव तस्करी विरोधी यूनिट की कार्रवाई, 15 बच्चे कराए मुक्त, दो गिरफ्तार

[MORE_ADVERTISE1]