स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नागरिकों ने सीएम से कहा नेशनल हाइवे तो बने किसान को उचित मुआवजा भी मिले

Anurag Thareja

Publish: Sep 18, 2019 21:59 PM | Updated: Sep 18, 2019 21:59 PM

Hanumangarh

नागरिकों ने सीएम से कहा नेशनल हाइवे तो बने किसान को उचित मुआवजा भी मिले
- सीएम को सौंपा ज्ञापन


नागरिकों ने सीएम से कहा नेशनल हाइवे तो बने किसान को उचित मुआवजा भी मिले
- सीएम को सौंपा ज्ञापन

हनुमानगढ़. केंद्र सरकार के भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत प्रस्तावित एनएच 754 के निर्माण हेतु अधिग्रहित की जाने वाली किसानों की जमीन का उचित मुआवजा दिलाने की मांग को लेकर किसानों ने सीएम को ज्ञापन सौंपा। पूर्व उप जिला प्रमुख शबनम गोदारा के नेतृत्व में मंगलवार को जयपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि एनएच 754 के निर्माण के लिए किसानों की सैकड़ों बीघा उपजाऊ भूमि अधिग्रहित की जानी है। इसके लिए अवार्ड भी बना दिया गया है। वर्तमान में किसानों को मुआवजे के तौर पर डीएलसी दर का ढाई गुना भुगतान किया जाना प्रस्तावित है जो काफी अपर्याप्त है। क्षेत्र में कृषि भूमि का बाजार मूल्य 10 से 15 लाख रुपए प्रति बीघा तक है, लेकिन मुआवजे के तौर पर अधिकांश किसानों को पांच से छह लाख रुपए प्रति बीघा दिया जा रहा है। इसके अलावा मुख्यमंत्री को कम्बोज जाति के ओबीसी के प्रमाण पत्र जारी करने की भी मांग की गई। इस दौरान पूर्व उप प्रधान राजेंद्र प्रसाद, पूर्व सरपंच उग्रसेन भादू, राजवंत सिंह, कंबोज समाज जिलाध्यक्ष दलवीर सिंह, दलीप छिंपा, मोहनलाल जाखड़, एडवोकेट रविन्द्र भोबिया, मनमीत गोदारा, राजाराम चाहर, सुखविंदर सिंह ,मदन जाखड़, हनुमान गोदारा आदि मौजूद रहे।

********************************
रोड़वेज कर्मचारियों ने भरी हुंकार
हनुमानगढ़. राजस्थान रोडवेज के श्रमिक संगठनों (सीटू, बीजेजेएम, एटक, इंटक, आरएसआरटीसी रिटायर्ड एम्पलाइज एसोसिएशन, राजस्थान रोडवेज सेवानिवृत कल्याण समिति) के प्रदेश पदाधिकारियों ने आन्दोलन की घोषणा की है। इसके चलते हनुमानगढ़ आगार के सीटू शाखा अध्यक्ष सतवीर गोस्वामी व शाखा सचिव विक्रांत सहारण ने बताया कि 10-11 अक्टूबर 2019 को प्रदेश भर में रोडवेज की सभी इकाइयों में धरना दिया जाएगा। 23 अक्टूबरको प्रदेश भर में रोडवेज की सभी इकाइयों में दोपहर में एक बजे से दो बजे तक एक घंटे का कार्य बहिष्कार किया जाएगा। दीपावली के बाद जोधपुर में प्रदेश स्तरीय रैली निकाली जाएगी। विक्रांत सहारण ने मुख्य मांगों में बताया कि वेतन-पेंशन का प्रत्येक माह के प्रथम कार्य दिवस में भुगतान, 7वें वेतन आयोग की सिफारिश लागू करने, सेवानिवृत्त श्रमिकों के सभी प्रकार के बकाया का भुगतान, 1500 नई बसें क्रय करने, रिक्त पदों पर नई भर्ती करने, वित्तीय वर्ष 2017-18 के बकाया एक्सग्रेसिया का बोनस के बराबर भुगतान करने आदि मांगों को लेकर आंदोलन किया जाएगा।