स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मनरेगा में पचास प्रतिशत तक फर्जी हाजिरी लगाने का आरोप

Purushotam Jha

Publish: Aug 23, 2019 12:39 PM | Updated: Aug 23, 2019 12:39 PM

Hanumangarh

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

पीएम आवास योजना में कुछ जगह अपात्रों को लाभान्वित करने तथा मनरेगा में पचास प्रतिशत तक फर्जी हाजिरी लगाने का मामला उठाया तो पंचायतराज के मौजूद अधिकारियों की कार्यशैली सवालों के घेरे में आ गई। सदस्यों का कहना था कि जिला परिषद के अफसर समय पर जांच नहीं करते, इसलिए फर्जीवाड़ा दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है। इस दौरान रावतसर, नोहर सहित कुछ जगह ग्राम विकास अधिकारियों व कनिष्ठ लिपिकों पर नियम विरुद्ध कार्य करने का मामला उठा तो सदन ने सर्वसम्मसति से आरोपी कर्मचारियों व ग्राम विकास अधिकारियों को तत्काल वहां से हटाने का प्रस्ताव पारित किया।

मनरेगा में पचास प्रतिशत तक फर्जी हाजिरी लगाने का आरोप
-जिला परिषद सदस्यों ने सदन में उठाया मुद्दा
हनुमानगढ़. जिला परिषद की साधारण सभा की बैठक में अफसरों की कार्यशैली से ज्यादातर जनप्रतिनिधि खफा नजर आए। जिला परिषद सदस्यों के तीखे तेवर के आगे अधिकारियों के तेवर नरम नजर आए। बैठक में पंचायत राज विभाग के अफसरों की कार्यशैली को लेकर कुछ सदस्यों ने रोष जताया। पीएम आवास योजना में कुछ जगह अपात्रों को लाभान्वित करने तथा मनरेगा में पचास प्रतिशत तक फर्जी हाजिरी लगाने का मामला उठाया तो पंचायतराज के मौजूद अधिकारियों की कार्यशैली सवालों के घेरे में आ गई। सदस्यों का कहना था कि जिला परिषद के अफसर समय पर जांच नहीं करते, इसलिए फर्जीवाड़ा दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है। इस दौरान रावतसर, नोहर सहित कुछ जगह ग्राम विकास अधिकारियों व कनिष्ठ लिपिकों पर नियम विरुद्ध कार्य करने का मामला उठा तो सदन ने सर्वसम्मसति से आरोपी कर्मचारियों व ग्राम विकास अधिकारियों को तत्काल वहां से हटाने का प्रस्ताव पारित किया। नोहर-भादरा व रावतसर क्षेत्र में सडक़ों की बदहाल स्थिति पर सदस्यों ने चिंता जाहिर की। जिला प्रमुख कृष्ण चोटिया ने पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को गंभीर होकर संबंधित सडक़ों की हालत जल्द सुधारने की बात कही। घग्घर में लगे अवैध बंधों को हटाने के लिए जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को ठोस प्लान बनाने का निर्देश दिया। इसके अलावा नहरों को पक्का करने के दौरान मोघों के साइज को नियमानुसार रखने के लिए कहा गया। जिससे किसानों में किसी तरह का रोष नहीं पनप सके। भाखड़ा खंड द्वितीय के एक्सईएन की कार्यशैली से सदस्यों के साथ ही उन्हीं विभाग के अभियंता भी खफा नजर आए। विभाग के एसई ने तो यह भी कह दिया कि मैंने एक्सईएन खंड द्वितीय के खिलाफ कार्रवाई के लिए सरकार को लिख रखा है। संगरिया विधायक गुरदीप सिंह शाहपीनी ने किसानों के सिंचाई संबंधी छोटे-छोटे काम करवाने का अधिकार एक्सईएन व एसई को देने का प्रस्ताव रखा। जिसे सदन से पारित कर दिया। वर्तमान में इन कार्यों के लिए फाइल मुख्यालय भिजवाई जाती है। आपणी योजना मेंं शामिल गंावों में पानी नहीं पहुंचने पर सदस्यों ने रोष व्यक्त किया, पीलीबंगा विधायक धर्मेंद्र मोची ने कहा कि एक्सईएन साहब आप फोन तक नहीं उठाते हमेशा मोबाइल बंद रखते हो, भला पानी कैसे दोगे। इस पर एक्सईएन ने कहा कि अभी फोन करके देख लो। मेरा मोबाइल हमेशा ऑन रहता है। जिला प्रमुख ने कहा कि चयनित गांवों में पानी उपलब्ध करवाना सबकी जिम्मेदारी है, इसके लिए ठोस प्लान बनाकर अफसर काम करें। नोहर में समाज कल्याण छात्रावास निर्माण में हुए भ्रष्टाचार का उल्लेख कर सदस्यों ने कहा कि जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ कार्रवाई हो। जिला परिषद सदस्य मंगेज चौधरी व संगरिया विधायक गुरदीप सिंह ने नेशनल हाइवे निर्माण के दौरान अवाप्त की जा रही भूमि के अनुपात में किसानों को बाजार भाव के हिसाब से कम से कम ४० लाख प्रति बीघा के हिसाब से मुआवजा देने की मांग रखी। इस दौरान सदस्यों ने कहा कि कर्ज तले दबे किसान कलक्ट्रेट में आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैं, लेकिन बैंक फिर भी मनमर्जी से किसानों की जमीन को कुर्क कर रहे हैं। इस पर रोक लगाने की मांग की। कलक्टर ने कहा कि मैं मेरे स्तर पर कुर्की टालने की कोशिश करता हूं। लेकिन बैंकों को वसूली से रोका नहीं जा सकता। बुधवार को संपन्न हुई जिला परिषद की बैठक में जिप सदस्यों के साथ विधायक व विभिन्न विभागों के अधिकारी शामिल हुए। डीएसओ अरविंद जाखड़, पीआरओ सुरेश बिश्नोई, पीडब्ल्यूडी के एसई गुरनाम सिंह चौहान, कृषि विभाग के उपनिदेशक दानाराम गोदारा, सीएमएचओ डॉ. अरुण चमडिय़ा, जल संसाधन विभाग के एसई डीएस बेनीवाल, एक्सईएन नोहर शिवचरण रैगर, रामाकिशन, सुभाषचंद्र बेदी, सहकारिता विभाग के उप रजिस्ट्रार अमीलाल सहारण, उप जिला प्रमुख रोशनलाल, जिला परिषद सदस्य मंगेज चौधरी, संदीप कुमार, दुनीचंद, दुलीचंद अठवाल, मंजू, कुलदीप सिंह नैण, गौरीशंकर थोरी, कृष्णचंद्र, पीलीबंगा पंचायत समिति प्रधान प्रेमराज जाखड़, नोहर प्रधान अमरसिंह सहित अन्य बैठक में मौजूद रहे।