स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

60 वार्डों में 234 प्रत्याशी, 50 से ऊपर 26 प्रतिशत, 24 प्रतिशत युवा लड़ रहे चुनाव

Anurag Thareja

Publish: Nov 11, 2019 12:02 PM | Updated: Nov 11, 2019 12:02 PM

Hanumangarh

60 वार्डों में 234 प्रत्याशी, 50 से ऊपर 26 प्रतिशत, 24 प्रतिशत युवा लड़ रहे चुनाव
जनता युवाओं को आगे बढ़ाएगी या बुजुर्गों का सियासी बेड़ा कराएगी पार
21 से 30 की उम्र के 58 उम्मीदवार टक्कर देने के लिए डटे

60 वार्डों में 234 प्रत्याशी, 50 से ऊपर 26 प्रतिशत, 24 प्रतिशत युवा लड़ रहे चुनाव
जनता युवाओं को आगे बढ़ाएगी या बुजुर्गों का सियासी बेड़ा कराएगी पार
21 से 30 की उम्र के 58 उम्मीदवार टक्कर देने के लिए डटे

हनुमानगढ़. नगर परिषद चुनाव का अखाड़ा तैयार हो चुका है। चुनावी दंगल में अब तक जो ताल ठोक रहे हैं, उस हिसाब से नप के नए बोर्ड में बुजुर्गों और युवाओं संतुलित जगह मिलनी तय है। क्योंकि 41 साल से लेकर 72 वर्ष तक की आयु के 50 प्रतिशत सियासी खिलाड़ी मैदान में है। जबकि शेष 40 वर्ष से कम उम्र के हैं। इनमें से भी आठ ऐसे प्रत्याशी हैं जिनको राजनीति की भाषा में नौसिखिया कहा जा सकता है। उनकी आयु 21 व 22 वर्ष है। मगर जनता के विश्वास के बूते वे अपने सामने ताल ठोक रहे मंजे हुए खिलाडिय़ों को पटखनी देकर सियासत में जोरदार पदार्पण कर सकते हैं। उम्मीदवारों की आयु के आंकड़ों के हिसाब से कहें तो अब 19 नवम्बर को पता चलेगा कि जनता युवाओं को आगे बढ़ाएगी कि बुजुर्गों का सियासी बेड़ा पार कराएगी।
जानकारी के अनुसार 60 वार्डों में 234 प्रत्याशी निकाय चुनाव में डटे हुए हैं। इस बार मुकाबला काफी रोचक है। क्योंकि कुल प्रत्याशियों में से 26 प्रतिशत बुजुर्गों को टक्कर देने के लिए 24 प्रतिशत युवा चुनावी मैदान में प्रचार प्रसार जोरों से कर रहे हैं। नगर परिषद में पहुंचने के लिए इन युवाओं ने प्रचार करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिए हुए है।
ऐसे में 19 नवंबर को निकाय चुनाव के परिणाम में साफ हो पाएगा कि युवा-बुजर्गों पर हावी होते हैं या फिर बुजर्ग अपने तुजुर्बे से जीत हासिल कर युवाओं को सीख देते हैं। निकाय चुनाव के आंकड़ों के अनुसार 50 से ऊपर की उम्र के 61 उम्मीदवार मैदान में है, 21 से 30 उम्र के 58 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। जबकि 31 से 40 तक की उम्र के 59 उम्मीदवार व 41 से 50 तक की उम्र के 56 प्रत्याशी चुनावी मैदान में शह और मात देने के लिए हरसंभव प्रयास में जुटे हैं। खास बात यह है कि सियासत करने के लिए शुरूआती दौर में 21 वर्ष के 5 उम्मीदवार व 22 वर्ष के तीन प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें महिलाएं भी शामिल हैं। इसी तरह 60 से 72 वर्ष की आयु के 22 प्रत्याशियों ने भी इस चुनाव में अपनी किस्मत अजमाई है।

25.2 प्रतिशत 31 से 40 तक
चुनाव में हुए नामांकन के आधार पर गौर करें तो 60 से 72 वर्ष के 9.4 प्रतिशत उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं यानि की 234 में से 22 प्रत्याशी ऐसे हैं, जिनकी उम्र 60 से अधिक है। 21 से 30 तक के 24.7 प्रतिशत युवा यानि की 58 प्रत्याशी चुनावी दंगल मे हैं। इसी तरह 31 से 40 तक 59 प्रत्याशी यानि कि इन उम्र के 25.2 प्रतिशत कैंडिडेट 60 वार्डों में चुनाव लड़ रहे हैं। इसके अलावा 41 से 50 तक की उम्र के 56 उम्मीदवार इन सभी को टक्कर दे रहे हैं। इस लिहाज से इन उम्र के 23.93 प्रतिशत के 50 से ऊपर 61 प्रत्याशियों को टक्कर दे रहे हैं।

कोई घोड़ों पर तो कोई ऊंटों से कर रहा प्रचार

हनुमानगढ़. निकाय चुनाव में वोटरों को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए प्रत्याशी हरसंभव प्रयास में जुटे हैं। वोटरों को लुभाने के लिए कहीं घोड़ों से प्रचार किया जा रहा है तो कहीं वार्डों में ऊंटों पर सजे बैनर के माध्यम से उम्मीदवार प्रचार-प्रसार में जुटे हैं। गली मौहल्लों में इन घोड़े व ऊंटों को देखने के लिए बच्चों से लेकर महिलाओं का हुजूम उमड़ जाता है। ऐसे में समर्थक प्रत्याशी को वोट देने की अपील करते हैं।
घोड़े व ऊंटों के आगे ढोल नगाड़ों की धुन बजाई जा रही थी। तो पीछे-पीछे वार्डों में ऊंट व घोड़े आ रहे थे। ये पार्टी के सिंबल, लडिय़ां व प्रत्याशियों के बैनर से सजे हुए थे। इसके अलावा कई प्रत्याशियों ने वार्डों में वोट देने की अपील करते हुए झाडू चलाई तो कईयों ने खीर व हलवे के प्रसाद का वितरण किया।

[MORE_ADVERTISE1]