स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हमें प्रकृति का देना होगा साथ

Harish kushwah

Publish: Aug 18, 2019 18:44 PM | Updated: Aug 18, 2019 18:44 PM

Gwalior

प्रकृति के साथ छेड़छाड़ आने वाले समय के लिए खतरनाक संकेत हैं। हम स्वार्थ से वसीभूत होकर जंगल की कटाई, पहाड़ों का क्षरण कर रहे हैं, जिससे प्रकृति असंतुलित हो रही है। यही कारण है कि अधिक गर्मी, अधिक ठंड, सूखा तो कभी बाढ़ जैसे हालात बन रहे हैं। इससे बचना है तो हमें प्रकृति के साथ चलना होगा और अधिक से अधिक पौधे रोपने होंगे।

ग्वालियर. प्रकृति के साथ छेड़छाड़ आने वाले समय के लिए खतरनाक संकेत हैं। हम स्वार्थ से वसीभूत होकर जंगल की कटाई, पहाड़ों का क्षरण कर रहे हैं, जिससे प्रकृति असंतुलित हो रही है। यही कारण है कि अधिक गर्मी, अधिक ठंड, सूखा तो कभी बाढ़ जैसे हालात बन रहे हैं। इससे बचना है तो हमें प्रकृति के साथ चलना होगा और अधिक से अधिक पौधे रोपने होंगे। यह बात वीपीएस जादौन ने सभी को संबोधित करते हुए कहा। यह कार्यक्रम पत्रिका के हरित प्रदेश अभियान के अंतर्गत थाटीपुर स्थित सीएसपी ऑफिस में आयोजित किया गया था। इस अवसर पर अमलतास, कचनार, आम, जामुन, बेलपत्र, गुलमोहर आदि के पौधे लगाए गए थे। कार्यक्रम में जादौन परिवार सहित कॉलोनीवासी व ऑफिस के लोग उपस्थित रहे।

ये रहे मौजूद

इस कार्यक्रम में सीएसपी रामेशवर पचौरी, विजय सिंह रावत, एपीएस जादौन, रवि सक्सेना, रामेश्वर सिंह भदौरिया, संजीव शर्मा, लक्ष्मी जादौन, प्रतिमा जादौन, पूर्णिमा राठौर, पिंकी, सुमन सक्सेना आदि उपस्थित रहे।