स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शक्ति, भक्ति, उजास और उल्लास का संगम

Mahesh Gupta

Publish: Oct 09, 2019 12:10 PM | Updated: Oct 09, 2019 12:10 PM

Gwalior

फिर मिलने का वादा कर विदा हुआ पत्रिका डांडिया महोत्सव

जमकर थिरके, खनके डांडिया, देर रात तक रहा जश्न का माहौल
विनर बनने की चाह में पार्टिसिपेंट्स में रही होड़, चार घंटे नॉन स्टॉप चला सेलिब्रेशन

तोरण वाटिका में मंगलवार का दिन ऐतिहासिक बन गया। रिंग के अंदर हो रही परफॉर्मेंस को देखने के लिए हजारों लोगों की भीड़ मौजूद थी। गार्डन में एंट्री के लिए ग्वालियराइट्स की लंबी लाइन थी। पार्टिसिपेंट्स के उत्साह को देखकर प्रतिभागी हार्ट बीट म्यूजिक के बीच ताली बजाकर उत्साहवर्धन कर रहे थे। कलरफुल लाइट के बीच चार घंटे तक गरबा, डांडिया, टिमली डांस और स्पेशल परफॉर्मेंस करने के बाद भी प्रतिभागियों का उत्साह कम न था। इस दौरान शक्ति, भक्ति, उजास और उल्लास का संगम देखने को मिला। मां की महाआरती से शुरू हुई यह खूबसूरत रात थी डांडिया महोत्सव-2019 की, जो पत्रिका और पान बहार के संयुक्त तत्वावधान में तोरण वाटिका में आयोजित की गई थी। इस दिन उत्साह और उल्लास के खूब रंग बिखरे। देर रात तक चला यह आयोजन फिर मिलने का वादा कर विदा हुआ।

ये रहे अतिथि

कार्यक्रम में अतिथि के रूप में कैबिनेट मिनिस्टर प्रद्युम्न सिंह तोमर, आइजी राजा बाबू सिंह, जेलर प्रभात कुमार, आइटीएम यूनिवर्सिटी के प्रो चांसलर डॉ. दौलत सिंह चौहान, चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष विजय गोयल, लायंस क्लब मिडटाउन की चार्टर्ड प्रेसीडेंट अनीता वाजपेयी उपस्थित रहीं।

टिमली डांस ने मोहा मन
महोत्सव का आगाज महाआरती के साथ हुआ। हाथों में दीप लेकर सभी प्रतिभागियों ने जयो-जयो मां जगदम्बे... पर परफॉर्म किया। इसके बाद रिंग पर चार सर्कल में गरबा हुआ, जो 30 काउंट तक पार्टिसिपेंट्स ने किया। इसमें बच्चों का अलग ग्रुप परफॉर्म कर रहा था। टिमली डांस की प्रस्तुति ने सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा। इसके बाद डांडिया में 32 काउंट तक प्रतिभागियों ने परफॉर्म किया। ट्रेडिशनल कॉस्ट्यूम और खूबसूरत एसेसरीज के साथ परफॉर्मेंस खूब रही।

ऑडियंस राउंड रहा खास
अब बारी थी ऑडियंस राउंड की, जिसका दर्शकों को बेसब्री से इंतजार था। बॉलीवुड सॉन्ग्स पर ऑडियंस ने जमकर कदम थिरकाए। अपनी फैमिली को रिंग के अंदर डांस करते देख पार्टिसिपेंट्स में भी जोश बढ़ा और वे भी एंजॉय करने पहुंचे।

विनर बनने की चाह में दी बेस्ट परफॉर्मेंस
हर एक प्रतिभागी में विनर बनने की चाह थी। इसीलिए वे बेस्ट परफॉर्मेंस दे रहे थे। महाआरती से लेकर डांडिया के लास्ट स्टेप तक सभी ने अपने फेस एक्सप्रेशन, बॉडी मूवमेंट और ओवरऑल परफॉर्मेंस पर फोकस किया, जिससे वह विनर की कैटेगरी में आ सकें और मंच पर नाम एनाउंस होते ही उनकी खुशी का ठिकाना न रहा।