स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

परिवार के साथ गया युवक डूबा तिघरा में, किसी को पता भी नहीं चला

Gaurav Sen

Publish: Aug 18, 2019 12:59 PM | Updated: Aug 18, 2019 12:59 PM

Gwalior

पुलिस के मुताबिक रमटापुरा निवासी जितेन्द्र कुष्ठा (28) पुत्र बालकिशन की मौत हो गई। जितेन्द्र सेवा नगर में सब्जी का ठेला लगाता था

 

 

ग्वालियर. जीजा और बहन के साथ पिकनिक मनाने गए युवक की तिघरा में डूबकर मौत हो गई। युवक को डूबते हुए देखा तो कु छ लोगों ने उसे पानी से बाहर निकाला लेकिन जब तक उसकी मौत हो चुकी थी। कुछ देर बाद जीजा को घटना पता चली। परिजनों ने बताया कि वह शराब पीए हुए था। हादसे की खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। शव का पोस्टमार्टम कराकर मर्ग कायम किया।

पुलिस के मुताबिक रमटापुरा निवासी जितेन्द्र कुष्ठा (28) पुत्र बालकिशन की मौत हो गई। जितेन्द्र सेवा नगर में सब्जी का ठेला लगाता था। रक्षाबंधन पर झांसी से उसकी बहन और जीजा किशनलाल घर आए हुए थे। जीजा ने तिघरा घूमने की इच्छा जताई तो जितेन्द्र जीजा और उनके परिवार के साथ दोपहर को 12.30 बजे तिघर के लिए निकल गए। करीब एक घंटे बाद 1.30 बजे तिघरा पहुंच गए। तिघरा पर पुल के पास बैठे जीजा और बहन खाना बनाने लगे। जितेन्द्र बोला बच्चों को नहलाकर लाता है। कुछ देर बच्चों को नहलाकर उनके पास छोड़ गया। इसके बाद खुद नहाने चला गया लेकिन नहाते वक्त वह पानी की गहराई में चला गया और डूबने लगा। मदद के लिए चिल्लाया तो कुछ लोग पानी में कूदे। उसे निकालकर बाहर लाए। जब तक जितेन्द्र की मौत हो चुकी थी।

किशनलाल ने बताया कि वह नहाने के लिए कब चला गया, उन्हें पता नहीं चला। करीब आधा घंटे तक दिखाई नहीं दिया तो पुल के नीचे तरफ वह देखने पहुंचे। देखा कि वहां भीड़ लगी हुई है। नजदीक गए तो जितेन्द्र का शव था तब पता चला कि वह डूब गया।

पिता-भाई की मौत हो चुकी है मौत
जितेन्द्र के पिता बालकिशन और बड़े भाई की मौत हो चुकी है। घर में मां के अलावा छोटा भाई है। घर की जिम्मेदारी जितेन्द्र पर ही थी। सब्जी का ठेला लगाकर वह परिवार का पालन पोषण कर रहा था। अब यह सहारा भी छिन गया।