स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

LIVE VIDEO: 25000 वोल्ट के तारों पर झूलता रहा कैलाश, खबर पढ़ हो जाएंगे रौंगटे खड़े

Gaurav Sen

Publish: Nov 12, 2019 12:17 PM | Updated: Nov 12, 2019 16:31 PM

Gwalior

man climb on 25000 volts railway current supply wire in dabra :यह सुबह 4 बजे से ओएचई के खंभे पर चढ़ गया जिसकी सूचना लोको पायलट द्वारा स्टेशन प्रबंधक एवं कंट्रोल रूम को दी गई। मामला सुबह 5 बजे रेलवे अधिकारियों के संज्ञान में आया तो उन्होंने उसको उतारने की बहुत कोशिश की ।

डबरा . रेलवे की 25000 केवीए की ओएचई लाइन पर चढ़ा युवक 3 घंटे तक लटका रहा। चालू लाइन होने के बाद भी युवक को कुछ नहीं हुआ और वह बाल-बाल बच गया है। 3 घंटे की मशक्कत के बाद टावर वैगन ने ऊपर खड़े होकर युवक को उतारा। बताया जा रहा है कि अज्ञात युवक मानसिक विक्षिप्त है । यह सुबह 4 बजे से ओएचई के खंभे पर चढ़ गया जिसकी सूचना लोको पायलट द्वारा स्टेशन प्रबंधक एवं कंट्रोल रूम को दी गई। मामला सुबह 5 बजे रेलवे अधिकारियों के संज्ञान में आया तो उन्होंने उसको उतारने की बहुत कोशिश की । लेकिन युवक नहीं उतरा वहीं इसे उतारने में भी रेल कर्मचारी घायल हुए हैं। इसके पश्चात रेलवे मंडल झांसी द्वारा ओएचसी लाइन को शटडाउन कराया गया जिस कारण से रेलवे यातायात लगभग 2 घंटे तक बाधित रहा।

वही राजधानी दुरंतो जैसी गाडिय़ां कोटा रेलवे स्टेशन के यार्ड में खड़ी रही। हालांकि आरपीएफ उप निरीक्षक नंदलाल मीणा को सूचना मिलते ही तत्काल मौके पर पहुंच गए और पूरा दल बल के साथ उसे उतारने की मशक्कत करते रहे। इसके बाद जब विद्युत विभाग के ओएचई स्टॉप मौके पर टावर वैगन लेकर पहुंचा तब उसे उतारने में सफलता मिली। व्यक्ति को एंबुलेंस की सहायता से सिविल हॉस्पिटल भेजा गया है। डबरा से गुजरने वाली सभी ट्रेनें हुई लेट , दिल्ली मुंबई रेलवे ट्रैक हुआ जाम कई रेल गाडिय़ां हुई घंटे लेट।

इसलिए नहीं लगा करंट
युवक जब तारों पर झूल रहा था तो उसे करंट इसलिए नहीं लगा क्योंकि उसे अर्थिंग नहीं मिली। इस बात को यूं समझे की.. जब युवक 25000 वोल्ट के तारों को पकड़े हुए था तब उसे न्यट्रल ( अर्थिंग) नहीं मिला यदि वह खंबे या अन्य किसी जमीन से संपर्क वाली वस्तु को छू लेता तो उसे 25000 वोल्ट का जोरदार झटका लगता जिसमें उसकी मौत भी हो सकती थी। अब इसे चमत्कार कहें या ईश्वर की मर्जी ऐसा कुछ हुआ नहीं और मानसिक रूप से लाचार युवक ङ्क्षजदा बचा लिया गया।

डबरा रेलवे प्रबंधन की देखने को मिली लापरवाही
घटना अल सुबह 5 बजे की है युवक तारों के बीचोंबीच कैसे और कहां से पहुंचा? इतना सब कुछ होने के बाद भी रेलवे प्रबंधन की ओर से किसी की भी नजर युवक पर नहीं पड़ी। काफी देर तक युवक तारों पर झूलते हुए हंगामा मचाता रहा। जिसे देख राहगीरों ने रेलवे के अधिकारियों को सूचना दी। फिर भी रेलवे प्रबंधन द्वारा मामले में गंभीरता नहीं दिखाई।

[MORE_ADVERTISE1]