स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जानिए, कैसे लालच देकर खाते से निकल लेते है पैसे

Harpal Singh Chauhan

Publish: Oct 16, 2019 22:24 PM | Updated: Oct 16, 2019 22:24 PM

Gwalior

रोजाना लोगों के पास आ रहे है फोन कॉल

ग्वालियर। बैंक अधिकारी बनकर लोगो के एटीएम कार्ड ब्लॉक होने की बात कहकर या इनाम जीतने का लालच देकर ठग लोगो के एटीएम कार्ड नंबर पूछ लेते है फिर उनके खाते से रकम पार कर रहे है। इस तरह की वारदातें काफी बढ़ रही है। रोजाना ३० से ४० लोगों के इस तरह के फोन आ रहे है। कुछ तो इन ठगों की करतूत जान चुके है उन्हें फटकार लगाकर फोन रख देते है। कुछ इनके जाल में फंसकर अपनी पसीने की कमाई गवा बैठते है। शहर के थानों में इस तरह के मामले रोजाना सामने आ रहे है। पुलिस कई बार एफआइआर कर लेती तो कई बार टालती रहती है। कुल मिलाकर एेसे ठग बहुत कम पुलिस के चंगुल में फंस रहे है।

केस:1 सिंधी कॉलोनी निवासी ओमप्रकाश के पास सोमवार को एक फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को बैक अधिकारी बताया। उनसे बोला कि उनका कार्ड ब्लॉक हो गया है। अपना एटीएम कार्ड नंबर बताए जल्द नया कार्ड इश्यू कर देगे। लेकिन ओमप्रकश समझ गया और उस ठग का फोन काट दिया।
केस:2 मामा का बाजार निवासी सुहैल खान के पास एक फोन आया। फोन करने वाले ने कहा कि आपका नंबर कंपनी ने सिलेक्ट किया है। आपकों इनाम मं कार मिलेगी। इसके लिए एटीएम कार्ड का नंबर बता दे। लालच में आकर सुहैल ने उसे नंबर बता दिया। कुछ देर बाद सुहैल केखाते से २० हजार रुपए निकल गए।

साइबर सेल थाने मे करे शिकायत
ऑन लाइन ठगी के लिए साइबर सेल थाने बनाए गए है। जहां इस प्रकार की शिकायतें कर सकते है। अगर आपके साथ ठगी हुई है तो तुरंत उस थाने में जाकर बताए। कई बार थाने में शिकायत होने के बाद खाते में भी पैसे बापस आए है। इसलिए जितनी जल्दी हो ठगी के बाद पुलिस थाने में शिकायत करनी चाहिए।

बिहार की गैंग शामिल
इस प्रकार की ठगी में बिहार की गैंग सामने आई है। बताया जाता है कि पढ़े लिखे लोग इस ठगी को अंजाम देने में लगे हुए है। वह अलग-अलग नंबरों से फोन करते है ताकि पुलिस उन्हें पकड़ न सके। कई बार पुलिस की टीम बिहार भी गई लेकिन ठग पकड़े नहीं गए।

सतर्क रहे सुरक्षित रहे
-किसी अंजान कॉल और ईमेल पर अपने बैंक खाते संबंधी जानकारी न दे

-आपका बैंक खाता क्रमांक, एटीएम का पिन नंबर किसी का बताए नहीं
-एटीएम कार्ड पर वर्णित १६ डिजिट का नंबर भी नहीं बताएं

-इंटरनेट बैंकिग संबधी आइडी या अन्य जानकारी भी नही देनी चाहिए।
इनका कहना है

यदि आपके पास किसी बैंक का नाम लेकर फोन कॉल या ई मेल पर बैक एकांउट या एटीएम संबंधी जानकारी मांगी जाए तो न दे। तत्काल बैक शाखा प्रबंधक से संपर्क करें। पुलिस को भी सूचना दे।
नवनीत भसीन एसपी ग्वालियर