स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रक्तदान को ऐसे ही महादान नहीं कहा जाता, इसके हैं कई फायदे

Avdhesh Shrivastava

Publish: Jun 15, 2019 19:36 PM | Updated: Jun 15, 2019 19:36 PM

Gwalior

व्हीआईएसएम ग्रुप ऑफ स्टडीज के नर्सिंग संस्थान में विश्व रक्तदान दिवस के मौके पर सेमिनार का आयोजन किया गया।

ग्वालियर. व्हीआईएसएम ग्रुप ऑफ स्टडीज के नर्सिंग संस्थान में विश्व रक्तदान दिवस के मौके पर सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार में मुख्य वक्ता के रूप में एमडी स्वामी रेडक्रास सोसायटी ने बताया कि रक्तदान को ऐसे ही महादान नहीं कहा जाता है। दानकर्ता के लिए इसके कई फायदे हैं। साथ ही रक्त एक ऐसी चीज है, जिसका कोई विकल्प नहीं है। रक्त की कमी को खत्म करने के लिए दुनिया भर में 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस मनाया जाता है। सेमिनार के बाद बीएससी नर्सिंग तृतीय वर्ष की छात्राओं की ओर से नाटक का मंचन किया गया, जिसमें रक्तदान को लेकर लोगो में व्याप्त अवधारणाओं एवं उनसे बचने का संदेश दिया गया। इस मौके पर संस्थान के चेयरमैन डॉ.सुनील राठौर, चेयरपर्सन सरोज राठौर, निदेशक डॉ.प्रज्ञा सिंह, नर्सिंग प्राचार्या प्रो. रक्षा कुलश्रेष्ठ आदि मौजूद थे।
वहीं भारत विकास परिषद की संस्कृति शाखा के सदस्यों की ओर से शुकवार को जेएएच के ब्लड बैंक में रक्तदान किया गया। इस मौके पर अलका कुशवाह, रचना गोयल, दामिनी गुप्ता, डॉ.ज्योति श्रीवास्तव, पारूल भारद्वाज, सुनीता चौबे, संगीता अग्रवाल मौजूद थीं।
31 यूनिट्स रक्तदान किया: जेसी आई इंडिया जोन 6 जेसीस ऑफ ग्वालियर एव रेडक्रॉस ग्वालियर की ओर से आरोग्यधाम चिकित्सालय एवं अनुसंधान केंद्र पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में अतिथि के रूप में अपर आयुक्त आबकारी मप्र शिवराज वर्मा, एसपी नवनीत भसीन मौजूद थे। शिविर में 31 यूनिट्स रक्तदान किया गया। कार्यक्रम में अनुपम तिवारी, हिमांशु बेदी, रितिका गुप्ता, सीपीएस राजपूत, योगेश शर्मा, कैलाश मोदी, संजीव पाल आदि मौजूद थे।