स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गोदाम में छापा मारने पर ऐसा क्या मिला कि अधिकारियों के उड़ गए होश...

Rajesh Shrivastava

Publish: Oct 23, 2019 01:47 AM | Updated: Oct 23, 2019 01:47 AM

Gwalior

गोदाम से नकली दूध बनाने के लिए तेजाब सहित खतरनाक केमिकल्स सोडियम थाईसल्फेट केमिकल, गोल्ड ग्लूकोज पॉवडर, कास्टिक सोडा, लिक्विड डिटर्जेंट का जखीरा मिला है।

अकोड़ा/भिण्ड. प्रदेश में सबसे ज्यादा नकली दूध बनाने का धंधा मुरैना व भिण्ड जिलों में अभी भी जोरों पर है। यहां शासन व प्रशासन की लगातार छापामार कार्रवाई के बावजूद भी मिलावट बाज नहीं आ रहे हैं। भिंड के महावीरगंज इलाके में एक गोदाम से नकली दूध बनाने के लिए तेजाब सहित खतरनाक केमिकल्स सोडियम थाईसल्फेट केमिकल, गोल्ड ग्लूकोज पॉवडर, कास्टिक सोडा, लिक्विड डिटर्जेंट का जखीरा मिला है। यह सामग्री जिले में नकली दूध बनाने वालों को सप्लाई की जाती थी। टीम ने गोदाम पर मंगलवार को छापा मारकर सैंपलिंग के बाद सील कर दिया। कार्रवाई की जानकारी मिलते ही केमिकल सप्लायर अमित जैन फरार हो गया। आरोपी ने गोदाम के बाहर मीडिया कार्यालय का बोर्ड लगा रखा था।
डिप्टी कलेक्टर ओमनारायण सिंह के अनुसार मंगलवार अल सुबह ऊमरी क्षेत्र के अकोड़ा में लोडर वाहन एमपी 30 ए 1133 में 25 किलो ग्राम वजन की एक बोरी सोडियम थाईसल्फेट, 25-25 किलो ग्राम वजन के 25 पैकेट जेएसआर गोल्ड ग्लूकोज पॉवडर, 200 लीटर का केमिकल्स से भरा ड्रम बरामद किया। वाहन चालक सर्वेश सिंह पुत्र तेज सिंह राठौर निवासी सुभाषनगर भिण्ड एवं वाहन स्वामी आशीष उर्फ पंकज राठौर पुत्र जगदीश राठौर की निशानदेही पर नकली दूध बनाने की सामग्री सप्लायर करने वाले अमित जैन पुत्र उमेश जैन निवासी हॉउसिंग कॉलोनी भिण्ड के गोदाम पर छापामार कार्रवाई की गई।
- नकली दूध बनाने क जब्त की गई सामग्री की जांच कराई जा रही है। हानिकारक केमिकल बरामद किए गए हैं। लैब से रिपोर्ट आने के उपरांत संबंधित के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी। कार्यवाही निरंतर जारी रहेगी।
ओमनारायण सिंह, एडीएम भिण्ड