स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शहर में डेंगू के 9 मरीज और मिले, लेकिन अधिकारी लापरवाह, मंत्री का आदेश भी नहीं माना

Rahul Aditya Rai

Publish: Oct 23, 2019 00:53 AM | Updated: Oct 23, 2019 00:53 AM

Gwalior

सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट द्वारा दिए गए आदेशों का भी अधिकारियों पर कोई असर नहीं हुआ है। न खाली प्लॉटों से कचरा उठाया गया है, न जेएएच में भर्ती डेंगू के मरीजों के पलंग पर मच्छरदानी लगाई गई है।

ग्वालियर। शहर में डेंगू के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं, मंगलवार को जीआर मेडिकल कॉलेज से जारी रिपोर्ट में जिले के 24 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है, जिनमें 9 मरीज शहर के हैं। इसके बावजूद स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के अधिकारी गंभीर नहीं हुए हैं। सोमवार को स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट द्वारा दिए गए आदेशों का भी अधिकारियों पर कोई असर नहीं हुआ है। न खाली प्लॉटों से कचरा उठाया गया है, न जेएएच में भर्ती डेंगू के मरीजों के पलंग पर मच्छरदानी लगाई गई है।

सोमवार को ग्वालियर आए स्वास्थ्य मंत्री सिलावट ने डेंगू, मलेरिया की समीक्षा बैठक में निर्देश दिए थे कि शहर में खाली प्लॉटों से गंदगी साफ कराई जाए, लेकिन शहर के कई क्षेत्रों में प्लॉटों पर गंदगी भरी पड़ी है। उन्होंने यह भी निर्देश दिए थे कि डेंगू के मरीजों को मच्छरदानी मुहैया कराई जाए, पर इस निर्देश पर भी अमल नहीं हुआ। सामान्य मरीजों के साथ भर्तीजेएएच में डेंगू के कई मरीज मेडिकल वार्ड में भर्ती हैं, जिनमें मेहगांव से आए एक युवक सहित कई मरीज बिना मच्छरदानी के ही इलाज करा रहे हैं। जबकि इस वार्ड में कई सामान्य मरीज भी भर्ती हैं।

अभी तक 86 पीडि़त मिले
जनवरी से अभी तक शहर में 86 डेंगू पीडि़त मिले हैं। इसके अलावा जिले में करीब 100 मरीज मिल चुके हैं, जिसमें भितरवार, बरई पनिहार और अन्य कस्बों के मरीज हैं। डेंगू के शिकार सबसे ज्यादा 18 साल से कम उम्र के बच्चे हो रहे हैं।

डीडीनगर, विनय नगर और कंपू में ज्यादा
अभी तक जो आंकड़े सामने आए हैं उनमें डीडी नगर, विनय नगर और कंपू क्षेत्र में डेंगू के मरीज ज्यादा मिल रहे हैं। इन क्षेत्रों में अभी तक 8-8 मरीजों की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य विभाग इन तीनों क्षेत्रों में टीम भेजेगा, नगर निगम भी इनका सहयोग करेगी।


डेंगू के मरीज बढऩे लगे हैं, इसके लिए शहर के तीनों क्षेत्रों में अमला भेजा जाएगा। इसके लिए नगर निगम का सहयोग भी लिया जाएगा।
मनोज पाटीदार, मलेरिया अधिकारी