स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुलिस ने जताई असम में आतंकी गतिविधियां बढ़ने की आशंका, यह है बड़ा कारण

Prateek Saini

Publish: Nov 24, 2019 18:10 PM | Updated: Nov 24, 2019 18:10 PM

Guwahati

यूनाईटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (ULFA) (United Liberation Front of Assam) का बड़ा हथियार भंडार मिला है, इसमें 13 राकेट और भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री शामिल (Citizenship Amendment Bill) है...

(गुवाहाटी,राजीव कुमार): प्रस्तावित नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर असम में विरोध दिन-प्रतिदिन तेज हो रहा है। पुलिस को आशंका है कि इस विरोध के चलते राज्य में आतंकी गतिविधियां बढ़ सकती है।

 

बांग्लादेश में मिला हथियारों का जखीरा...

बांग्लादेश में फिर से यूनाईटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम(उल्फा) का बड़ा हथियार भंडार मिला है। इसमें 13 राकेट और भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री शामिल है। वर्ष 2014 में भी बांग्लादेश में उल्फा के हथियार का बड़ा जखीरा बरामद हुआ था। वर्ष 2004 में दो ट्रक हथियार जब्त हुए थे।

 

यह भी पढ़ें: झारखंड के चुनावी रण में 'शाह' की एंट्री, विपक्षी दलों पर जमकर बरसे

 

आतंकी संगठनों में फूंक सकते है जान...

नागरिकता कानून संशोधन विरोधी मंच ने कहा है कि इस विधेयक के खिलाफ सड़क के आंदोलन से लेकर कानून तक की लड़ाई लड़ी जाएगी। मंच ने कहा कि असमिया का परिचय बनाए रखने के लिए इसका विरोध जरुरी है। वहीं असम पुलिस का कहना है कि विधेयक के खिलाफ जो जनमत तैयार हो रहा है वह आतंकी संगठनों में नई जान फूंक सकता है। मंच के अध्यक्ष तथा राज्य के विशिष्ट बुद्धिजीवी डॉ. हीरेन गोहाईं ने कहा कि यदि विधेयक कानून में तब्दील होता है तो असमिया लोग अल्पसंख्यक हो जाएंगे। धर्म के आधार पर नागरिकता दिए जाने को स्वीकार नहीं किया जा सकता।

यह भी पढ़ें: चुनाव से पहले नक्सलियों का तांडव, सरे बाजार JMM नेता को भूना, दो JCB को फूंका

 

अलगाव के भाव को भूना सकते हैं आतंकी...

उधर असम पुलिस ने सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों और साइबर अपराध इकाई को स्थिति पर नजर बनाए रखने को कहा है। सूत्रों का कहना है कि लोगों में जो अलगाव की भावना पैदा हो रही है आतंकी उसको भूना सकते हैं।


यह भी पढ़ें: Video: सब सोते रहे, कमरे में सैर करता रहा तेंदुआ, लोगों ने यूं बचाई जान

 

'उल्फा' की भर्ती प्रक्रिया जारी...

उल्फा द्धारा नई भर्तियां किए जाने की भी खुफिया जानकारियां हैं। ऊपरी असम में पुलिस उल्फा और नगा आतंकियों पर नजर रखे हुए है। वहीं निचले असम में सक्रिय कमतापुर लिबरेशन आर्गेनाइजेशन (केएलओ) पर नजर रखी जा रही है। केएलओ का उल्फा के साथ संबंध है। असम पुलिस की पश्चिमी रेंज के उप महानिरीक्षक रौनक अली हजारिका ने कहा कि स्थिति काफी संवेदनशील है। हम सभी संगठनों की गतिविधियों पर लगातार नजर रखे हुए हैं। पिछले साल विधेयक के खिलाफ हुए आंदोलन के दौरान उल्फा द्वारा व्यापक स्तर पर भर्तियां किए जाने की बात सामने आई थी। पुलिस ने कई ऐसे युवकों को पकड़ा था जो उल्फा में जा रहे थे।

असम की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: Video: हैदराबाद की सड़क पर फास्ट एंड फ्यूरियस, फ्लाईओवर से कार ने लगाई छलांग, ले ली लोगों की जान

[MORE_ADVERTISE1]