स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

असम में तीन लाख से अधिक फर्जी विद्यार्थी पकड़े गए

Yogendra Yogi

Publish: Jan 06, 2020 20:22 PM | Updated: Jan 06, 2020 20:22 PM

Guwahati

( Assam News ) असम सरकार (Assam Government Schools) ने सरकारी स्कूलों में तीन लाख से अधिक फर्जी विद्यार्थियों ( Fake Students ) की शिनाख्त की। राज्य के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ( Sarvanand sonwal ) ने आज समग्र शिक्षा अभियान की समीक्षा की। इसी बैठक में ये बात सामने आयी कि वर्ष 2018-19 के अकादमिक सत्र में कक्षा एक से कक्षा 12 तक सभी सरकारी और प्रादेशिक स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या 46,69,970 है, जबकि वर्ष 2016-17 के सत्र में यह संख्या 49,82,180 थी।

गुवाहाटी (राजीव कुमार ): ( Assam News ) असम सरकार (Assam Government Schools) ने सरकारी स्कूलों में तीन लाख से अधिक फर्जी विद्यार्थियों ( Fake Students ) की शिनाख्त की। राज्य के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ( Sarvanand sonwal ) ने आज प्राथमिक, सेकेंडरी और शिक्षा विभाग के तहत आने वाले समग्र शिक्षा अभियान की समीक्षा की। इसी बैठक में ये बात सामने आयी कि वर्ष 2018-19 के अकादमिक सत्र में कक्षा एक से कक्षा 12 तक सभी सरकारी और प्रादेशिक स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या 46,69,970 है, जबकि वर्ष 2016-17 के सत्र में यह संख्या 49,82,180 थी।

3 लाख 12 हजार फर्जी निकले
अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि 3 लाख 12 हजार से अधिक फर्जी विद्यार्थियों की शिनाख्त की गयी है, जिन्हें पिछले सरकार के दौरान पंजीकृत किया गया था। इसमें बताया गया कि पिछली सरकार ने विद्यार्थियों के फर्जी आंकड़े इसलिए दिये ताकि पाठ्य-पुस्तक, मध्याह्न भोजन, यूनिफॉर्म के नाम पर जनता की रकम हड़पी जा सके। मुख्यमंत्री ने इस पर कड़ा रूख अपनाते हुए निर्देश दिया है कि इस मामले में जो भी दोषी पाया जाए उसके खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए।

स्कूल छोड़ गए 63 हजार वापस आए
इस बैठक में यह बात भी सामने आयी कि स्कूलों से दूर हुए 86,094 विद्याथिज़्यों को शिक्षा विभाग ने शिनाख्त किया और उसमें से 63,406 विद्यार्थियों को दिसंबर 2019 तक फिर से शिक्षा के मुख्यधारा में ले आया गया। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह राज्य सरकार का उल्लेखनीय कदम रहा है। इतने बड़े स्तर मानव संसाधन नष्ट होने से बच गये। मुख्यमंत्री ने सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए मुख्यमंत्री विशेष शिक्षक पुरस्कार देने की घोषणा की। इसके अलावा 4379 सेकेंडरी स्कूलों को खेल व भौतिक शिक्षा के लिए 25-25 हजार का अनुदान देने की भी घोषणा की गयी।

[MORE_ADVERTISE1]