स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

असम में जापानी इंसेफेलाइटिस से मृतकों की संख्या १४३ हुई

Yogendra Yogi

Publish: Aug 11, 2019 17:20 PM | Updated: Aug 11, 2019 17:20 PM

Guwahati

japanese encephalitis: असम में जापानी इंसेफेलाइटिस (जेई) के चलते रोगियों की मौत का सिलसिला अभी भी जारी है। जापानी इंसेफेलाइटिस से मृतकों की संख्या १४३ हुई ।

japanese encephalitis: गुवाहाटी ( Assam ), जापानी इंसेफेलाइटिस (जेई) के चलते राज्य में रोगियों की मौत का सिलसिला अभी भी जारी है। राज्य में अब तक 143 लोगों की जापानी इंसेफेलाइटिस की वजह से मौत हुई है। हाल ही में इस रोग की चपेट में आने से एक और रोगी की मौत हो गई। गुवाहाटी स्थित नेशन हेल्थ मिशन की ओर से जारी किए गए आंकड़े के अनुसार राज्य में अब तक जापानी इंसेफेलाइटिस के कुल 606 मामले सामने आया है, जिसमें 143 लोगों की मौत हुई है।

ऐसा होता है संक्रमण
चावलों के खेतों में पनपने वाले मच्छरों से (प्रमुख रूप से क्युलेक्स ट्रायटेनियरहिंचस समूह)। यह मच्छर जापानी एनसिफेलिटिस वायरस से संक्रमित हो जाते हैं (सेंट लुई एलसिफेलिटिस वायरस एंटीजनीक्ली से संबंधित एक फ्लेविवायरस)। जापानी एनसिफेलिटिस वायरस से संक्रमित मच्छरों के काटने से होता है। जापानी एनसेफेलाइटिस वायरस से संक्रांत पालतू ***** और जंगली पक्षियों के काटने पर मच्छर संक्रांत हो जाते है। इसके बाद संक्रांत मच्छर पोषण के दौरान जापानी एनसेफेलिटिस वायरस काटने पर मानव और जानवरों में जाते हैं।