स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ईएनपीओ पलटा, स्वतंत्रता दिवस बहिष्कार का फैसला वापस

arun Kumar

Publish: Aug 11, 2019 23:54 PM | Updated: Aug 11, 2019 23:54 PM

Guwahati

ENPO: केंद्र सरकार से 13 अगस्त की वार्ता का आमंत्रण मिलने के बाद नगालैंड के ईएनपीओ ने स्वतंत्रा दिवस के बहिष्कार का फैसला वापिस ले लिया है.

- केंद्र के वार्ता का आमंत्रण पर बन सकती है बात

मिजोरम

केंद्र सरकार से 13 अगस्त की वार्ता का आमंत्रण मिलने के बाद नगालैंड के ईएनपीओ ने स्वतंत्रा दिवस के बहिष्कार का फैसला वापिस ले लिया है। पूर्वी नागालैंड जन संगठन (ईएनपीओ) की मीडिया इकाई ने रविवार शाम को स्पष्ट किया कि गत 11 जून को राज्य में तुएनसांग मुख्यालय में ईएनपीओ की केन्द्रीय कार्यकारिणी की बैठक में क्षेत्र की जनता से भारत के स्वतंत्रता दिवस का बहिष्कार करने या समारोह में भाग नही लेने की अपील की थी। अपील में कहा गया था कि अगर भारत सरकार 10 अगस्त से पहले नागालैंड के पूर्वी जिलों के क्षेत्र को एक प्रथक राज्य बनाने की प्रक्रिया पर कोई जवाब नही देती हैं तो ईएनपीओ बहिष्कार करेगा।

तुएनसांग प्रस्ताव में खून खराबे का विरोध

ईएनपीओ ने अपने प्रभाव क्षेत्र में खून-खराबा, डर, आतंक और धमकी या किसी प्रकार की हिंसा न करने को लेकर 18 दिसम्बर 2007 को तुएनसांग प्रस्ताव पास किया था। पूर्वी नागालैंड जन संगठन के प्रभाव वाले राज्य के 4 जिलों- किफिर, लोंगलेंग, तुएनसांग और मोन, जो राज्य की 60 सदस्यी विधानसभा में 20 विधानसभा क्षेत्रों को बनाते हैं, में मुख्यता 6 जनजातीय समुदाय निवास करते हैं। संगठन राज्य के 4 पूर्वी जिलों को लेकर एक अलग राज्य की मांग कर रहा है क्योंकि इस क्षेत्र के 6 जनजातियों के साथ सौतेला व्यवहार होता हैं।

नगा छात्र संघ की अलग घोषणा

उधर, नगा छात्र संघ- एनएसएफ ने 14 अगस्त को 73वां नगा स्वतंत्रता दिवस मनाने और नगा राष्ट्रीय झण्डा नगा एकता पार्क कोहिमा में फहराने की घोषणा की हैं। नगालैंड की संघीय सरकार- एफज़ीएन और नगा छात्र संघ- एनएसएफ़ इकाई 22 मार्च 1956 से रेंगमा क्षेत्र में 14 अगस्त को आजाद नगालैंड राष्ट्रीय दिवस को नगा राष्ट्रीय झण्डे के साथ मना रही है। मंत्रिपरिषद के नेता कैप्टन यिरे लुंग्लेंग ने 6 अगस्त 2019 को अपने 14 अगस्त के कार्यक्रम की घोषणा की थी।