स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ऑटोमोबाइल सेक्टर की मंदी का इस राज्य में नहीं कोई असर

Prateek Saini

Publish: Sep 16, 2019 20:35 PM | Updated: Sep 16, 2019 20:35 PM

Guwahati

Economic Crisis In India: देशभर में मंदी का असर (Economic Crisis India) देखा जा रहा है, इसी बीच इस राज्य के ऑटोमोबाइल सेक्टर ( Crisis In Automobile Sectore) के लिए अच्छी ख़बर है कि यहां (Financial Crisis In India) मंदी अभी तक असर नहीं (Assam News) दिखा पाई है...

 

 

(गुवाहाटी,राजीव कुमार): जब देश भर में ऑटोमोबाइल सेक्टर मंदी की मार झेल रहा है तब भी असम में वाहनों के पंजीकरण में कोई कमी नहीं आई है। 31 अगस्त 2019 तक हर महीने लगभग 45 हजार वाहन पंजीकृत किए गए। अकेले कामरुप(मेट्रो) में अप्रेल से अगस्त 2019 तक हर महीने लगभग नौ हजार नए वाहन पंजीकृत किए गए हैं। वर्ष 2017-18 और 2018-19 वित्तीय साल में वाहनों के पंजीकरण की संख्या दोगुनी हुई है।


असम के परिवहन आयुक्त के कार्यालय के अनुसार वर्ष 2015-16 में 2,90,874 वाहन पंजीकृत हुए थे जबकि 2016-17 में 2,92,980 वाहन पंजीकृत हुए। पर वर्ष 2017-18 में नए वाहनों के पंजीकरण की संख्या दोगुनी बढ़कर 4,42,747 हो गई। वर्ष 2018-19 में भी राज्य में 5,02,525 वाहन पंजीकृत हुए। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार वर्ष 2018-19 में दुपहिया वाहन 2,60,295 पंजीकृत हुए जबकि 66,065 कारें पंजीकृत कराई गई। जिला स्तर पर देखें तो कामरुप(मेट्रो) वर्ष 2018-19 में 97,440 वाहनों के पंजीकरण के साथ शीर्ष पर था जबकि नगांव 36,754 वाहनों के पंजीकरण के साथ दूसरे और शोणितपुर 32,458 वाहनों के पंजीकरण के साथ तीसरे स्थान पर था। इससे साफ होता है कि कामरुप (मेट्रो) मे सात हजार से नौ हजार तक हर महीने वाहनों का पंजीकरण होता है वहीं पूरे राज्य की बात करें तो अगस्त तक हर महीने 45,000 वाहन पंजीकृत हुए।


परिवहन कार्यालय के अधिकारी ने बताया कि राज्य में वाहनों के पंजीकरण के बढ़ने का कारण सहज से उपलब्ध हो रहा बैंकों का ऋण और कार मेले हैं, जो राज्य भर में आयोजित किए जा रहे हैं। स्थिति यह है कि मध्यमवर्गीय परिवार कार खरीदने के लिए आगे आए हैं। पर अधिकारी का कहना है कि मोटर वाहन(संशोधन) कानून 2019 के राज्य में लागू होने के बाद स्थिति में कुछ बदलाव आ सकता है। अब तक राज्य सरकार ने इसे लागू करने के लिए कोई अधिसूचना जारी नहीं की है।

असम की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: Modi सरकार देगी 350 करोड़ रुपये, ब्रू-शरणार्थियों को मिलेंगी यह सुविधाएं, जल्द लौटेंगे घर