स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

CAA विरोध के बीच असम CM ने पूछा "मैं क्या करू", सामने से आया जवाब सुनकर रह जाएंगे दंग

Prateek Saini

Publish: Jan 02, 2020 22:08 PM | Updated: Jan 02, 2020 22:08 PM

Guwahati

Anti CAA Protest: (CAA) सीएए (CAA Protest) के खिलाफ असम में (CAA Protest In Assam) नहीं थम रहा (Assam News) अहिंसक आंदोलन, नए साल पर पत्रकारों से (Assam CM) सीएम (Assam CM Sarbananda Sonowal) ने मांगे सुझाव...

 

(गुवाहाटी,राजीव कुमार): असम में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ अहिंसक आंदोलन अभी भी जारी है। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल, उनके मंत्री, विधायक और सांसद जहां भी जा रहे हैं उन्हें विरोध का सामना करना पड़ रहा है। नए साल में पत्रकारों से मुख्यमंत्री सोनोवाल ने सुझाव मांगे तो पत्रकारों ने कहा कि आप सीएए का विरोध कीजिए। दिल्ली के नेताओं के नीचे दबकर न रहें। इस पर मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि मुझे अकेला मत कीजिए। मैं असम को क्षति होने वाला कोई कदम नहीं उठाऊंगा। मैं भले ही राष्ट्रीय राजनीतिक पार्टी का हिस्सा हूं, लेकिन मैंने क्षेत्रीय चेतना को नहीं भुलाया है। मुझे अपराधी ठहराने की कोशिश हो रही है।

 

उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कांग्रेस और वामपंथी दल लगातार दुष्प्रचार कर रहे हैं। आकड़ों का भ्रम जाल फैलाया जा रहा है। ग्रामीण व चाय बागान के लोगों को गुमराह किया जा रहा है।


इधर मुख्यमंत्री सोनोवाल को मंगलवार को नलबाड़ी जिले के धर्मपुर में काले झंडे दिखाए गए तो गुरुवार को भाजपा सांसद तथा अखिल असम छात्र संघ(आसू) के पूर्व महासचिव तपन कुमार गोगोई को शिवसागर में आसू सदस्यों ने शिवसागर सर्किट हाउस में घेर लिया। वहीं केंद्रीय खाद्य प्रसंस्सकरण राज्य मंत्री रामेश्वर तेली को भी काले झंडे दिखाए गए। सीएए पर विचार के लिए असम विधानसभा का विशेष सत्र 13 जनवरी को बुलाया गया है। इस दिन भी विरोध जताने विभिन्न संगठन विधानसभा के बाहर धरने पर बैठने का एलान कर चुके हैं।

 

उधर 10 जनवरी को गुवाहाटी में शुरु होने जा रहे खेलो इंडिया का उद्घघाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करने आने वाले हैं। विभिन्न संगठनों ने इसका भी विरोध करने का ऐलान कर रखा है। इधर मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के गृहनगर चबुवा में भी गुरुवार को सीएए के खिलाफ विरोध सभा आयोजित हुई।

[MORE_ADVERTISE1]