स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एनसीपी के चार विधायकों को शिवसेना कार्यकर्ताओं ने कराया मुक्त

Devkumar Singodiya

Publish: Nov 26, 2019 00:47 AM | Updated: Nov 26, 2019 00:47 AM

Gurgaon

महाराष्ट्र के चार विधायकों के गुरुग्राम स्थित ओबरॉय होटल में बाड़ेबंदी में होने की जानकारी मिली। इस पर शिवसेना के गुरुग्राम जिला अध्यक्ष रितुराज अपने समर्थकों सहित होटल जा धमके, लेकिन यहां पुलिस का कड़ा पहरा था। बाद में रणनीति तय कर दो तरफ से प्रवेश किया गया और पुलिस का ध्यान बंटाकर एक टीम विधायकों को अपने साथ ले गई।

गुरुग्राम (गणेश चौहान). महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर जहां सभी राजनीतिक दल अपने अपने विधायकों पर नजर रखे हुए हैं, वहीं महाराष्ट्र एनसीपी के चार विधायक हरियाणा के गुरुग्राम में देखे गए। विधायकों की संख्या कम होती देख महाराष्ट्र एनसीपी में हड़कंप मच गया और विधायकों की खोजबीन शुरू हो गई।
सूत्रों की माने तो दिल्ली के कुछ कांग्रेसी नेताओं को इन विधायकों के गुरुग्राम ओबरॉय होटल में बाडेबंदी में होने की जानकारी मिली।
बाद में महाराष्ट्र से शिव सेना के गुरुग्राम जिला अध्यक्ष रितुराज से विधायकों को खोजने के लिए कहा गया। इस पर रितुराज अपने कार्यकर्ताओं के साथ ओबेरॉय होटल पहुंचे। हालांकि उन्हें होटल में प्रवेश नहीं करने दिया गया। इस पर रितुराज ने एनसीपी महाराष्ट्र प्रदेश युवा अध्यक्ष धीरज शर्मा को इसकी जानकारी दी।

यूं चला घटनाक्रम

अध्यक्ष धीरज शर्मा ने बताया की दो दिनों से हमारे विधायकों को महाराष्ट्र से अपहरण कर लाया गया था और इन विधायकों को खोजने के लिए समर्थक कवायद कर रहे थे। इसमें हरियाणा पुलिस की लिप्तता भी सामने आई है। रितुराज के अनुसार शिवसैनिकों ने जानकारी मिलते ही एनसीपी के विधायकों को मुक्त कराने के लिए टीमें बनाई और होटल जा पहुंचे। शिव सैनिकों के आने पर पुलिस ने होटल की सुरक्षा कड़ी कर दी। हालांकि शिवसैनिकों की एक टीम ने होटल के पीछे के गेट से प्रवेश किया। जैसे पुलिस अधिकारियों की जीप शिव सैनिकों को पकडऩे के लिए उनके पीछे दौड़ी, पीछे से पहले ही तैनात शिव सैनिकों की टीम ने ओबराय होटल के पांचवी मंजिल पर जाकर वहां पर एनसीपी के विधायक अनिल पाटिल, दौलत दरोडा, नितिन पवार एवं नरहरि को मुक्त कराया और महाराष्ट्र भिजवा दिया।


हरियाणा की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...

[MORE_ADVERTISE1]