स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सचिन पायलट ने किया कैप्टन अजय यादव की जीत का दावा,कहा-किसानों की जमीन बचाने के लिए कैप्टन यादव ने किया था संघर्ष

Prateek Saini

Publish: May 08, 2019 22:24 PM | Updated: May 08, 2019 22:24 PM

Gurgaon

सचिन पायलट ने कैप्टन यादव के पक्ष मतदान की अपील की

 

(गुुरुग्राम): राजस्थान सरकार में उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने आज शाम सोहना में सभा कर कैप्टन अजय यादव के पक्ष में मतदान कर भारी मतों से जीत दिलाने की अपील की। सचिन पायलट ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि पूरे देश में बदलाव की लहर चल रही है। हकीकत यह है कि चुनाव में भाजपा बेरोजगारी और भ्रष्टाचार जैसे अहम मुद्दों से बचने के लिए रास्ते तलाश रही है। प्रधानमंत्री मोदी कभी स्वर्गीय राजीव गांधी को कोसते है तो कभी मनमोहन सिंह को। लेकिन बेरोजगारी या भ्रष्टाचार पर बात नहीं करते। आज देश जानना चाहता है कि नोटबंदी से किसको लाभ पहुंचा। रसोई गैस सिलेंडर 900 रूपये का आंकड़ा पार कर गया है, जो मनमोहन सिंह की सरकार में 320 रूपये का हुआ करता था। इन सभी मुद्दों पर अगर कोई सरकार से सवाल पूछे तो उसे राष्ट्र विरोधी और देश विरोधी बना दिया जाता है। क्या देशभक्ति का सर्टिफिकेट अब भाजपा देगी? सचिन पायलट ने कहा कि पांच साल पूर्ण बहुमत की सरकार होने के बावजूद भाजपा ने कुछ नहीं किया और सभी वायदे जुमले बनकर रह गये।

 

भूमि अधिग्रहण आंदोलन का जिक्र करते हुए सचिन पायलट ने कहा कि गुरूग्राम की यही भूमि है, यहां से दिल्ली तक किसानों की जमीन को बचाने के लिए एक लंबा संघर्ष चला, जिसमें कैप्टन यादव की भी अहम भूमिका रहीं। किसानों को विश्वास हुआ कि उनकी जमीन कोई लेगा, तो उसके साथ कोई खड़ा है। उन्होंने दावा किया कि गुरूगाम में कैप्टन यादव को रेवाडी से भी अच्छी जीत हासिल होगी। इस अवसर पर सचिन पायलेट से सोहना की जनता ने कांग्रेस पार्टी को जीताने का वादा किया।


कैप्टन ने कहा कि रेवाडी के लोगों ने हमेशा उन्हें अपना स्नेह व समर्थन दिया और छह बार विधायक बनाया। रेवाडी के लोगों पर मुझे पूर्ण विश्वास है कि वे इस बार भी उनमें अपने विश्वास जतायेंगे। उन्होंने कहा कि जनता के दुःख-दर्द में साथ न देने वाले जनप्रतिनिधि का बहिष्कार करके बावल के लोगों ने मिसाल कायम की है। इस तरह पटौदी जोकि किसी समय में राव बीरेन्द्र सिंह का चुनावी क्षेत्र था। यह क्षेत्र विकास में पिछड गया है, जिसे रेवाडी की तर्ज पर विकसित करना है और उनकी इस सोच के साथ लोगों की सहमति भी है।