स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पेट्रोल और सीएनजी पंप खोलने का सुनहरा मौका, पेट्रोलियम मंत्रालय ने दिया ग्रीन सिग्नल

Devkumar Singodiya

Publish: Jan 05, 2020 19:07 PM | Updated: Jan 05, 2020 19:17 PM

Gurgaon

पेट्रोलियम मंत्रालय ने दी 300 नए पंप को हरी झंडी...हरियाणा में इसी साल खुलेंगे 50 नए सीएनजी पंप...गुरुग्राम, फरीदाबाद व पंचकूला में पाइपलाइन से होगी गैस आपूर्ति

गुरुग्राम/चंडीगढ़. केंद्र सरकार ने हरियाणा में 300 से अधिक नए पेट्रोल पंपों की स्थापना को हरी झंडी दिखा दी है। चालू वर्ष के अंत तक प्रदेश में यह योजना सिरे चढ़ती है तो हरियाणा में प्रत्येक 10 किलोमीटर के दायरे में एक पेट्रोल पंप होगा।

हरियाणा में इस समय करीब तीन हजार पैट्रोल पंप चल रहे हैं। इनका चालू वर्ष के दौरान विस्तार होगा। इस विस्तार का जिम्मा इंडियन ऑयल कारपोरेशन, भारत पेट्रोलियम तथा हिंदुस्तान पेट्रोलियम को दिया गया है। सूत्रों के अनुसार इस वर्ष के दौरान 300 नए पैट्रोल पंपों की स्थापना की जाएगी। इनमें पेट्रोल व डीजल के अलावा 50 पंप सीएनजी के होंगे।

प्रदेश में पहले से ही सीएनजी के 50 पंप चल रहे हैं, इनमें इस साल विस्तार कर 100 तक पहुंचाया जाएगा। हालांकि केंद्र सरकार ने हरियाणा के लिए सीएनजी के 100 पंपों के लिए स्वीकृति प्रदान की है, लेकिन इस वर्ष के दौरान 50 पंपों की स्थापना की जाएगी। प्रदेश में 50 नए सीएनजी पंपों की स्थापना के बाद हरियाणा के सभी जिले सीएनजी से जुड़ जाएंगे।

कई निजी क्षेत्र की कंपनियों की मदद से हरियाणा के जिलों में पाइप लाइन से गैस की आपूर्ति की जाएगी। वर्तमान में गुरुग्राम व फरीदाबाद के कई हिस्सों में पाइपलाइन से घरेलू गैस आपूर्ति का सफल ट्रायल होने के बाद पंचकूला में पाइपों से गैस की आपूर्ति होगी। पंचकूला के बाद करनाल को इस योजना में शामिल किया जाएगा। विभागीय सूत्रों के अनुसार इस योजना में हुडा के सैक्टरों, बहुमंजिला इमारत वाले क्षेत्रों, हाउसिंग बोर्ड कालोनियों को शामिल किया जाएगा।


तैयारी अभी से शुरू

केंद्र सरकार के सहयोग से हरियाणा में 350 पेट्रोल पंपों की स्थापना को अमली रूप दिया जा रहा है। प्रदेश में लगातार बढ़ रही मांग तथा भविष्य को देखते हुए सीएनजी पंपों की स्थापना की तरफ भी पूरा फोकस किया जा रहा है। भविष्य में सीएनजी पंपों तथा सीएनजी से चलने वाले वाहनों की संख्या बढ़ेगी, इसकी तैयारी अभी से शुरू हो चुकी है।

पीके दास, एसीएस, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग, हरियाणा


हरियाणा की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
जम्मू कश्मीर की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरों के लिए क्लिक करें...

[MORE_ADVERTISE1]