स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हाईवोल्टेज तारों पर लटका मिला तेंदुआ, करंट लगने से मौत

Prateek Saini

Publish: Jun 20, 2019 19:27 PM | Updated: Jun 20, 2019 19:27 PM

Gurgaon

मंडावर गांव के आसपास काफी जंगल है। यहां पर अक्सर वन्य प्राणी बाहर निकलकर आबादी में घुस जाते हैं और लोगों को नुकसान पहुंचाते हैं। पूर्व में एक तेंदुआ ( Leopard ) गांव में घुस गया था...

(चंडीगढ़, गुरुग्राम): गुरुग्राम ( Gurugram ) जिला के गांव मंडावर में आज एक तेंदुए (Leopard) की करंट लगने से दर्दनाक मौत हो गई। यह हादसा उस समय हुआ जब तेंदुआ एक पेड़ पर चढ़ा था। उसी पेड़ के बीच से बिजली की तारें गुजर रही थी। जैसे ही तेंदुआ इन तारों की चपेट में आया तो उसे करंट लग गया। मौके पर ही उसकी मौत हो गई और घंटों तक उसका शव तारों पर ही लटकता रहा। बाद में वन्य प्राणी विभाग को इसकी सूचना दी गई। विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों ने मौके पर पहुंचकर तेंदुए के शव को उतारा और अपने साथ ले गये। विभाग के इंस्पेक्टर सुनील कुमार के मुताबिक तेंदुए के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।


मंडावर गांव के आसपास काफी जंगल है। यहां पर अक्सर वन्य प्राणी बाहर निकलकर आबादी में घुस जाते हैं और लोगों को नुकसान पहुंचाते हैं। पूर्व में एक तेंदुआ गांव में घुस गया था। जिसने कई ग्रामीणों को घायल कर दिया था। हालांकि बाद में उसे ग्रामीणों ने पीट पीटकर मार दिया था। इस बार एक और तेंदुए की जान चली गई है। इसमें ग्रामीणों का कोई हाथ नहीं है।


आज मंडावर गांव के लोगों ने एक तेंदुए को बिजली की तारों पर लटकते हुये देखा। किसी को यकीन नहीं हुआ कि वह करंट से मर चुका है। देखते ही देखते मौके पर ग्रामीणों का हुजूम उमड़ पड़ा। इसकी सूचना पुलिस व वन्य प्राणी विभाग के अधिकारियों को भी दी गई। टीम मौके पर पहुंची और देखा कि तेंदुआ बिजली की तारों पर लटक रहा है। पेड़ पर चढ़कर जब देखा गया तो पता चला कि उसकी करंट लगने से मौत हो चुकी है। क्योंकि जिस पेड़ पर तेंदुआ चढ़़ा था, उस पेड़ के बीच से बिजली की हाईटेंशन लाइन की तारें गुजर रही थी। उन्हीं तारों की चपेट में वह आ गया और करंट के कारण उसकी मौत हो गई।


बिजली विभाग ने तुरंत ही बिजली लाइन को बंद कर दिया जिससे लाइन में करंट खत्म हो गया। वन्य प्राणी विभाग के इंस्पेक्टर सुनील कुमार ने बताया कि मृत तेंदुए के शव को कब्जे में ले लिया गया है। जिसका पोस्टमार्टम कराने के लिए भेजा जायेगा।

 

पहाड़ से निकल जोहड़ में पानी पीने आया था तेंदुआ

बताया जा रहा है कि तेंदुआ पहाड़ों से निकलकर तलहटी में स्थित नीलकंठ मंदिर के समीप जोहड़ में पानी पीने के लिए आया था। इस जोहड़ में अक्सर जंगली जानवर पानी पीने के लिए आते रहते हैं। तेंदुआ जब जोहड़ के समीप पहुंचा तो उसने जोहड़ के समीप खड़े एक पेड़ पर शिकार देख लिया। जिसे झपटने के लिए वह पेड़ पर चढ़ गया। पेड़ के समीप से बिजली की हाईटेंशन तार जा रही थी। तेंदुए ने जैसे ही शिकार को पकडऩे का प्रयास किया तो वह बिजली की तारों में फंस गया और करंट लगने से मौके पर ही मौत हो गई। करंट से तेंदुए का मुंह व पेड़ की डाली पूरी तरह से जल गई।

 

मोर, बंदर आदि बैठे रहते हैं पेड़ों पर

गांव के सरपंच धन सिंह बताते हैं कि पेड़ पर अकसर बन्दर व मोर आकर बैठ जाते हैं। तेंदुआ भी शिकार करने की नीयत से पेड़ पर चढ़ गया। उन्होंने यह भी बताया कि जोहड़ के आस-पास काफी हरियाली छाई हुई है, जिससे जंगली जानवर यहां पर आते रहते हैं।