स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कार्यकर्ता ने भेंट किया मुकुट तो हाथ में फरसा ले खट्टर बोले, गर्दन काट दूंगा तेरी

Chandra Prakash sain

Publish: Sep 11, 2019 19:39 PM | Updated: Sep 11, 2019 20:00 PM

Gurgaon

Haryana: सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

(चंडीगढ़); हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का एक वीडियो बुधवार को सोशल मीडिया पर दिनभर ट्रोल होता रहा, जिसमें वह मुकुट पहनाकर स्वागत करने वाले कार्यकर्ता को फरसा दिखाकर कहते हैं कि गर्दन काट दूंगा तुम्हारी।

 

विपक्ष ने सीएम से इस वीडियो को सोशल मीडिया पर जहां खूब वायरल किया वहीं खट्टर ने दो टूक शब्दों में कहा कि उन्होंने सत्ता में आने के बाद बहुत मुश्किल से चांदी व सोने के उपहार के कल्चर को समाप्त किया है। वह इसे दोबारा पनपने नहीं देंगे। वीडियो मुख्यमंत्री द्वारा हाल ही में की गई जनआर्शीवाद यात्रा का है।

यात्रा के दौरान हिसार के सांसद बृजेन्द सिंह व राज्यसभा सांसद डीपी वत्स भी दिखाई दे रहे है। सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो में सीएम मनोहर लाल खट्टर रथ पर सवार है। नीचे से किसी कार्यकर्ता ने सीएम मनोहर लाल के लिए फरसा दिया और सांसद बृजेन्द सिंह ने वह फरसा सीएम के हाथ में दिया। फरसा लिए खट्टर जनता से कहते हैं कि फरसा दुश्मनों का नाश करने के लिए है। इस बीच पीछे खड़े बीजेपी के वरिष्ट नेता डॉक्टर हर्ष मोहन भारद्वाज ने उन्हें मुकुट पहनाने की कोशिश की। मुकुट पहनाना सीएम को नागवार गुजरा और गुस्से में मुकुट पहनाने वाले हर्ष मोहन भारद्वाज की तरफ फरसा करते हुए गर्दन काटने की धमकी दे दी। वायरल वीडियो में सीएम खट्टर कहते सुन रहे है कि ये क्या कर रहे हो? गर्दन काट दूंगा तेरी, हटो एक तरफ। इस पर बीजेपी नेता विडियो में सीएम से हाथ जोड़कर माफी मांगते भी दिखाई दे रहे है।

 

डॉक्टर हर्षमोहन भारद्वाज हरियाणा बीजेपी के वरिष्ठ नेता है और वह हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के सदस्य भी रह चुके हैं। भारद्वाज फिलहाल हिसार की बरवाला विधानसभा सीट से पार्टी की टिकट मांग रहे हैं। ये कोई पहला मौका नहीं है जब सीएम खट्टर का इस प्रकार को वीडियो वायरल हुआ है।

 

इस वीडियो के वायरल होने पर विपक्षी राजनीतिक दलों ने जहां सीएम को कटघरे में खड़ा किया वहीं सीएम खट्टर ने कहा कि कांग्रेस के नेता जिस तरह से उनके इस वीडियो को ट्वीट करके अलग तरह की बातें बताने की कोशिश कर रहे हैं वो दरअसल अपने लिए ही फंदा बना रहे हैं। क्योंकि उन्होंने अपनी कांग्रेस की सरकार के कार्यकाल के दौरान जनता को इसी तरह सोने चांदी के मुकुट और अन्य बेशकीमती उपहार लेकर लूटा है और ये उनका कल्चर रहा है। पांच साल पहले सत्ता में आने के बाद उन्होंने बड़ी मुश्किल से प्रदेश में फैले इस कल्चर को समाप्त किया है। वह इसे दोबारा पनपने नहीं देंगे और अगर भाजपा कार्यकर्ता इस तरह की कार्रवाई करते हैं तो वह उन्हें लताडऩे से भी पीछे नहीं हटेंगे।