स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गौतम/ दुष्यन्त: इधर,दावा विधायक नाराज,उधर बोल मना लेंगे

Satyendra Porwal

Publish: Dec 25, 2019 22:47 PM | Updated: Dec 25, 2019 22:47 PM

Gurgaon

जजपा विधायक गौतम ने पार्टी उपाध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा
मंत्री न बनाए जाने से चल रहे थे नाराज

नारनौद. चंडीगढ़. हरियाणा में सरकार गठन के बाद शुरू हुई जननायक जनता पार्टी की अंदरूनी फूट बुधवार को उजागर हो गई। पार्टी के वयोवृद्ध विधायक रामकुमार गौतम ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। गौतम ने दावा किया है कि जजपा के कई विधायक दुष्यंत की कार्यशैली से नाराज है। गौतम ने पार्टी तो नहीं छोड़ी है अलबत्ता पार्टी से दूरी बनाने के संकेत जरूर दिए हैं। गौतम हिसार जिला के नारनौंद विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं और पूर्व वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु को हराकर विधानसभा पहुंचे थे।
हरियाणा में विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा को जब दुष्यंत के नेतृत्व वाली जननायक जनता पार्टी ने समर्थन दिया तो उस समय ही चर्चा का दौर शुरू हो गया था कि वरिष्ठता के आधार पर गौतम को सरकार में शामिल किया जाएगा। मनोहर मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान भी अंतिम समय तक इस बात की अटकलें चलती रही कि गौतम को जजपा कोटे से मंत्री बनाया जाएगा, लेकिन दुष्यंत ने अपने अलावा दूसरा पद अनूप धानक को दे दिया। जिसके बाद से गौतम व अन्य दो वरिष्ठ विधायक अंदरूनी तौर पर दुष्यंत से नाराज चल रहे थे। यह नाराजगी बुधवार को सार्वजनिक हो गई। एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे गौतम ने जजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया। उन्होंने कहा कि जजपा केवल हरियाणा तक ही सीमित है। क्षेत्रीय पार्टी है। इसलिए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद का कोई वजूद नहीं है।
खुद के पास 11 विभाग और विधायक खा रहे धक्के: गौतम
हरियाणा की राजनीति में दादा नाम से प्रसिद्ध रामकुमार गौतम ने बागी तेवर दिखाते हुए कहा कि उन्हें मंत्री न बनाए जाने का गम नहीं लेकिन दुख इस बात का है कि गुरुग्राम के एंबीयंस मॉल में जो गुप्त समझौता हुआ है, उसके लिए बलि का बकरा मुझे क्यों बनाया गया। गौतम ने कहा कि दुष्यंत खुद को 11 विभाग लिए बैठे और नौ विधायक तबादलों के आवेदन लेकर उनके आगे पीछे घूम रहे हैं, जबकि इन्हीं विधायकों के बल पर वह डिप्टी सीएम बने हैं। जजपा छोडऩे ने इनकार करते हुए गौतम ने कहा कि वह इस पार्टी के संस्थापक हैं, इसलिए पार्टी छोडऩे का सवाल ही नहीं।
जल्द सुलझा लिया जाएगा मामला: दुष्यंत
डिप्टी सीएम एवं जजपा नेता दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मामला मेरी जानकारी में नहीं है। वह आज सुबह से कार्यक्रमों में व्यस्त हैं। इस्तीफे की वजह गौतम ही बता सकते हैं। दुष्यंत चौटाला ने दावा किया कि इस मामले को जल्द सुलझा लिया जाएगा।
गौतम के पार्टी पद से इस्तीफा देने से सरकार पर संकट नहीं: बराला
दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने पत्रकारों को बताया कि मैं कोर ग्रुप की बैठक में आया था। जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया, क्या इस पर आपकी पार्टी को कोई संकट है इस पर बराला ने कहा कि सरकार को किसी प्रकार का कोई संकट नहीं है, जजपा का अंदरूनी मामला है, वह तय करेंगे कि कैसे उस पार्टी में आगे बढऩा है लेकिन सरकार स्थिर है।
पत्रकारों ने पूछा कि दुष्यंत चौटाला 51 सौ रुपए पेंशन देने की बात पर कह रहे हैं कि अब उन्हें प्रदेश की आर्थिक स्थिति देखनी होगी आप क्या कहते हैं। बराला ने कहा कि कोई भी फैसला लेने के लिए प्रदेश की आर्थिक स्थिति को देखना होता है अगर आर्थिक स्थिति हो नजरअंदाज करके फैसले लिए जाएंगे तो प्रदेश के लिए समस्याएं खड़ी हो जाती है। पत्रकारों ने पूछा अगर प्रदेश की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है तो विधायकों के भत्ते क्यों बढ़ाए गए, इस पर बराला बोले मैंने पहले ही कहा है कि प्रदेश की आर्थिक स्थिति को देखकर ही फैसले लिए हैं।

[MORE_ADVERTISE1]