स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

...आखिर क्यों मची है एनसीआर में हायतौबा

Satyendra Porwal

Publish: Nov 16, 2019 01:15 AM | Updated: Nov 16, 2019 01:15 AM

Gurgaon

उपाय हर नजर से फिर भी नहीं मिल रही राहत

सभी के लिए चुनौती, हर वर्ग परेशान

गुरुग्राम. एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण को रोकने में छोटे-छोटे प्रयास बड़े रंग लाएंगे। इसी उम्मीद में गुरुग्राम में जहां डीजल ऑटो पर नजर है वहीं रोजाना ग्रेप के तहत सड़कों व पेड़ों पर पानी छिड़का जा रहा है। एनसीआर में करीब बीस दिन से फैक्ट्रियां बन्द हैं और हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की बैठकों में भी हर दृष्टि से प्रदूषण की रोकथाम के उपाय जारी है। प्रदूषण रोकथाम पर पत्रिका की रिपोर्ट।

गुरूग्राम के उपायुक्त अमित खत्री ने गुरूजल परियोजना के तहत जिले में किए जा रहे विकास कार्यों की कार्यालय में समीक्षा बैठक ली। उन्होंने हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को चयनित तालाबों के सैंपल एकत्रित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एनसीआर क्षेत्र में प्रदूषण का बढ़ता स्तर सभी के लिए चुनौती है। तालाब जीर्णोद्धार के लिए जरूरी है कि पहले प्रदूषण स्तर की जांच की जाए। तालाबों के आस-पास क्षेत्र की एयर क्वालिटी टेस्ट की जाए। तालाबों के आस-पास पौधारोपण किया जाएगा। बैठक में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड मानेसर के रीजनल ऑफिसर शक्ति सिंह, गुरूजल प्रोजेक्ट के डायरेक्टर शुभि सहित अनेक अधिकारी उपस्थित थे।
बच्चों व बुजुर्गों के लिए एडवाइजरी जारी:
जिला में प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से एडवाइजरी जारी की गई है। उपायुक्त अमित खत्री ने बताया कि बच्चे व बुजुर्ग धूप निकलने के बाद दिन में 11 से 3 बजे तक बाहर के कार्य निपटाए। दिल व फेफड़ों की बीमारी वाले दवाई साथ रखें। सांस की दिक्कत,खांसी, चक्कर या आंखों में जलन पर डॉक्टर की सलाह लें। प्रमाणित मास्क का इस्तेमाल करें। कार पूलिंग करें या वाहनों का कम ही इस्तेमाल करें।
डा. नीरज यादव ने बताया कि प्रदूषण स्तर सामान्य से अधिक है। कचरा पत्ते आदि न जलाए। ट्रैफिक जाम वाली जगह पर न जाएं। निर्माणधीन स्थानों पर जाने से बचें। सुबह-शाम खिड़की-दरवाजे बंद रखें। सिगरेट-बीड़ी का इस्तेमाल न करें।
उचित समाधान की मांग:
एनसीआर में सभी निर्माण कार्यों पर रोक है। फैक्ट्रियों में बॉयलर-जनरेटर बंद हैं। अधिकांश फैक्ट्रियां 25 नवंबर से ठप हैं। गुरुग्राम उद्योग व्यापार मोर्चा के संयोजक और सत्य बहुमत पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सत्यदेव चौधरी ने कहा है कि अगर सरकार ने इस मुद्दे का उचित समाधान नहीं किया तो मोर्चा शांतिपूर्ण तरीके के प्रदर्शन करेगा। अधिकांश गारमेंट एक्सपोर्ट यूनिट होने से ज्यादातर बायर्स का ऑर्डर समय से पूरा नहीं हो पा रहा है।

प्रदूषण से बचाव का ऐहतियातन कदम यह भी....
गुरुग्राम. एक जनवरी से डीजल ऑटो बंद करने के एक्शन प्लान के तहत राजीव चौक पर जांच अभियान चलाया गया। क्षेत्रीय यातायात प्राधिकरण, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा ट्रैफिक पुलिस की ओर से संयुक्त रूप से चलाए गए अभियान में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले ऑटो चालकों के चालान किए गए। अतिरिक्त उपायुक्त एवं क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण के सचिव मोहम्मद इमरान रजा ने डीजल ऑटो बंद करने को लेकर राजीव चौक सहित जिला के विभिन्न स्थानों पर जांच अभियान चलाया । बिना परमिट व बिना प्रदूषण प्रमाण पत्र चलाए जा रहे डीजल ऑटो चालकों के चालान किए गए और 10 साल पुराने ऑटो जब्त करने की कार्यवाही की गई। इस दौरान इको फ्रैंडली वाहनों जैसे सीएनजी ऑटो व ई-रिक्शा आदि का इस्तेमाल करने का आह्वान किया। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के रीजनल ऑफिसर कुलदीप सिंह ने बताया कि इस प्रकार की मुहिम शुरू करने से निश्चित तौर पर ही प्रदूषण स्तर में गिरावट आएगी।

सवा लाख जुर्माना वसूला, सड़कों-पेड़ों पर पानी का छिड़काव

 

[MORE_ADVERTISE1]...आखिर क्यों मची है एनसीआर में हायतौबा[MORE_ADVERTISE2]

गुरुग्राम. नगर निगम ओर से ग्रेडिड रेस्पॉन्स एक्शन प्लान (ग्रेप) उल्लंघन पर 21 व्यक्तियों का 1.21 लाख रुपए का चालान किया गया। इस दौरान उड़ती धूल को रोकने के लिए सड़कों व पेड़ों पर पानी का छिड़काव किया गया तथा मेकेनाइज्ड स्वीपिंग भी लगातार जारी है। इस दौरान सीएनडी गतिविधियों के लिए 8 लोगों पर 97000 रुपए, कचरा डालने के लिए 3 लोगों पर 1500 रुपए तथा प्रदूषण बढ़ाने वाली अन्य गतिविधियों के लिए 10 लोगों पर 23000 रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

[MORE_ADVERTISE3]