स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गांवों में बंद होंगे शराब के ठेके... बेरोजगारी भत्ता न्यूनतम मजदूरी बढ़ेगी

Devkumar Singodiya

Publish: Oct 17, 2019 21:12 PM | Updated: Oct 17, 2019 21:12 PM

Gurgaon

जजपा ने किसानों, छोटे दुकानदारों का सहकारी बैंकों का कर्ज माफ करने और जमीन की नीलामी बंद करने की बड़ा दांव खेला है। शिक्षित युवाओं को 11 हजार रुपए बेरोजगारी भत्ता, न्यूनतम वेतन 16 हजार रुपए और दिहाड़ी 600 रुपए प्रतिदिन देने की घोषणा भी की।

गुरुग्राम. हरियाणा की राजनीति में तेजी से आगे बढ़ रही जननायक जनता पार्टी ने अपनी प्रतिद्वंदी भाजपा को पीछे छोड़ते हुए चुनावी घोषणा पत्र को ग्रामीणों, किसानों, महिलाओं व कर्मचारियों पर फोकस कर दिया है। जजपा के राष्ट्रीय महासचिव डॉ.के. सी. बांगड़ तथा घोषणा पत्र कमेटी के चेयरमैन डॉ. अभय सिंह मौर्य ने घोषणा पत्र जारी करते हुए भाजपा सरकार को जाट आरक्षण आंदोलन तथा डेरा सच्चा सौदा प्रकरण के दौरान हुई 75 मौतों के मामले पर घेरते हुए कहा कि जनसेवा पत्र के माध्यम से समाज के सभी वर्गों का ख्याल रखा जाएगा।

हरियाणावासियों को नौकरी में मिलेगा आरक्षण

पुलिस और तस्करों की जबरदस्त मुठभेड़, एक की मौत, चार सिपाही घायल

जजपा की सरकार बनने पर हरियाणा में सरकारी नौकरियों में स्थानीय निवासियों को 75 प्रतिशत आरक्षण प्रदान किया जाएगा। हरियाणा के गांवों में शराब के ठेकों को लेकर आए दिन हो रहे विवाद के चलते जजपा ने ऐलान किया है कि उनकी सरकार के सत्ता में आने के बाद गांवों में शराब के ठेकों को बंद किया जाएगा। फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर दस प्रतिशत या 100 रुपए बोनस दिया जाएगा।

रविदास का मंदिर और भगतसिंह की प्रतिमा लगाएंगे

मानवाधिकार के खिलाफ बोलकर छा गई हरियाणा की बेटी... देखिए वीडियो

कुरूक्षेत्र में संत रविदास का बड़ा मंदिर बनाने और जींद में शहीद भगत सिंह की सबसे बड़ी प्रतिमा स्थापित करने का ऐलान करते हुए जजपा ने कहा कि वाहन चालान की दरों को कम किया जाएगा। काला पीलिया, कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियों का मुफ्त उपचार के ऐलान के साथ ही प्रत्येक वर्ग को 5100 रुपए मासिक पेंशन।

न्यूनतम वेतन 16 हजार, दिहाड़ी 600 रुपए

घूंघट और बुर्के में हो सकती है परेशानी, जानिए कैसेे

जजपा ने जनसेवा पत्र में गृहणी अथवा माताओं को बच्चों के पोषण और लालन-पालन के लिए 3000 रुपए तक मासिक मानदेय देने, सरपंचों को 8000, पंचायत सदस्यों को 3000, पंचायत समिति सदस्यों को 4000 और जिला पार्षद को १० हजार, नंबरदार को 5000 रुपए मासिक भत्ता देने का ऐलान किया है। किसानों, छोटे दुकानदारों का सहकारी बैंकों का कर्ज माफ करने और जमीन की नीलामी बंद करने की बड़ा दांव खेला गया है। शिक्षित युवाओं को 11000 रुपए बेरोजगारी भत्ता, न्यूनतम वेतन 16 हजार रुपए और दिहाड़ी 600 रुपये प्रतिदिन दी जाएगी।

अमृतसर में अंकुरित हो गया था सत्याग्रह आन्दोलन
हरियाणा में 25 लाख लोगों को यूं मिलेगा रोजगार, हो जाएगी बल्ले बल्ले

हरियाणा की अधिक खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें...
पंजाब की अधिक खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें...