स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पुलिस हुई सतर्क, मानेसर क्षेत्र में रही शांति

Satyendra Porwal

Publish: Dec 21, 2019 20:40 PM | Updated: Dec 21, 2019 20:40 PM

Gurgaon

30 गांव के प्रमुख लोगों की महापंचायत का भय, पुलिस ने ठेकेदार के कर्मचारियों को खदेड़ा।
एचएसआईआईडीसी अधिकारियों ने प्लॉट खाली कराने के लिए उपाय देने के लिए लिखा पत्र।
मानेसर औद्योगिक क्षेत्र में हड़ताल मामला।

गुरुग्राम. मानेसर. मानेसर औद्योगिक क्षेत्र का माहौल खराब कर रहे कुछ ठेकेदार के कर्मचारियों को महापंचायत के भय से मानेसर पुलिस के अधिकारियों ने सरकारी प्लॉट से खदेड़ दिया। उन्होंने चेतावनी भरे शब्दों में कहा कि बिना अनुमति के किसी को धरना प्रदर्शन नहीं करने दिया जाएगा। इधर, मानेसर क्षेत्र को यूनियन नेताओं से बचाने के लिए 30 गांव के प्रमुख लोगों ने महापंचायत का ऐलान किया हुआ है। महापंचायत के डर से मानेसर पुलिस ने शनिवार को ठेकेदार के कर्मचारियों को बगैर अनुमति के धरने पर नहीं बैठने दिया और मानेसर से भगा दिया, इससे शनिवार को दिनभर क्षेत्र में शांति रही।
धरने के स्थान पर संभाला मोर्चा

[MORE_ADVERTISE1]पुलिस हुई सतर्क, मानेसर क्षेत्र में रही शांति[MORE_ADVERTISE2]

गौरतलब है कि गांव के सरपंचों ने जिला उपायुक्त को मानेसर नायब तहसीलदार के माध्यम से ज्ञापन सौंप कर कहा था कि औद्योगिक क्षेत्र का माहौल खराब करने वाले ठेकेदार के कर्मचारियों को मानेसर से बाहर किया जाए, क्योंकि यूनियन के तथाकथित कुछ नेता ठेकेदार के कर्मचारियों को प्रलोभन देकर धरने पर बैठे हुए हैं। पुलिस ने शनिवार सुबह ही धरने के स्थान पर मोर्चा संभाल लिया और यहां आने वाले कर्मचारियों को भगा दिया।

मुझे जानकारी नहीं है, किस की भूमि पर है बैठे: बांगड़
एचएसआईडीसी के महानिदेशक नरहरि बांगड़ ने पत्रिका को बताया कि मुझे कोई जानकारी नहीं है कि मानेसर एचएसआईआईडीसी के प्लॉट पर ठेकेदार के कर्मचारी अवैध धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। यह जिला स्तर के अधिकारियों का मामला है, उनको जानकारी होगी।
उच्च अधिकारियों को भी है जानकारी: सरदाना
इधर, मानेसर एचएसआईआईडीसी की संपदा अधिकारी प्रिया सरदाना ने बताया कि मानेसर धरने पर बैठे कर्मचारियों के बारे में उनके उच्च अधिकारियों को भी जानकारी है। उन्होंने कहा कि हाल ही दिल्ली के हरियाणा भवन में हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद के साथ जो बैठक हुई, उसमें एचएसआईडीसी अधिकारियों ने पूरी जानकारी दी कि ठेकेदार के कर्मचारी सरकारी भूमि पर धरने पर बैठे हैं।
पुलिस अधिकारियों को भी पत्र से किया है सूचित
इधर, दूसरी ओर एचएसआईआईडीसी के अधिकारी सुभाष वत्स ने बताया कि उन्होंने विभाग की ओर से जिला उपायुक्त अमित खत्री के अलावा पुलिस अधिकारियों को भी पत्र के माध्यम से सूचित किया है कि जो मानेसर में औद्योगिक क्षेत्र का माहौल बिगाड़ रहे हैं, सरकारी भूमि का प्रयोग कर रहे हैं । उनको वहां से हटाया जाए।

[MORE_ADVERTISE3]