स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हार पर मंथन के साथ भविष्य की रणनीति बनाने में जुटी कांग्रेस

Devkumar Singodiya

Publish: Nov 13, 2019 18:13 PM | Updated: Nov 13, 2019 18:13 PM

Gurgaon

हरियाणा में कुमारी शैलजा ने तीन लोकसभा क्षेत्रों से बुलाए हारे हुए प्रत्याशियों से चर्चा कर हार के कारणों की समीक्षा करना शुरू कर दिया। साथ ही जिन प्रत्याशियों ने सहयोग नहीं किया, उन पर कार्रवाई की तैयारी भी शुरू कर दी।

चंडीगढ़. एक तरफ जहां हरियाणा की सत्तारूढ़ भाजपा अभी तक मंत्रिमंडल का गठन नहीं कर पाई है वहीं विपक्षी दल कांग्रेस ने अतीत की गलतियों से सबक लेते हुए अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने विधानसभा चुनाव में हार के कारणों पर मंथन के साथ-साथ भविष्य की रणनीति को अमली रूप देने शुरू कर दिया है। बुधवार को चंडीगढ़ स्थित कांग्रेस मुख्यालय में अंबाला, कुरूक्षेत्र तथा करनाल लोकसभा क्षेत्रों से चुनाव हारने वाले पार्टी प्रत्याशियों को बुलाया गया।

यहां भी मिली थी जीत
विधानसभा चुनाव के दौरान अंबाला लोकसभा क्षेत्र में आते विधानसभा पंचकूला, अंबाला शहर, अंबाला छावनी, जगाधरी तथा यमुनानगर में भाजपा प्रत्याशी जीते थे। दूसरी कालका, नारायणगढ़, मुलाना तथा सढौरा में कांग्रेस को जीत मिली थी।

कई नए तो कई दीग्गज जीते थे
कुरूक्षेत्र लोकसभा क्षेत्र में थानेसर, पिहोवा, कैथल से भाजपा, गुलहा तथा शाहबाद से जननायक जनता पार्टी, पुंडरी से निर्दलीय प्रत्याशी ने जीत दर्ज की है। करनाल लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आते करनाल, इंद्री, पानीपत ग्रामीण व शहरी क्षेत्र से भाजपा, असंध, इसराना और समालखा से कांगे्रस, नीलोखेड़ी से निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है।

वन टू वन लिया फीडबैक
कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने आज तीनों लोकसभा से हारे हुए प्रत्याशियों से फीडबैक लिया। इस व्यक्तिगत बैठक के दौरान प्रत्याशियों से हार का कारण, चुनाव के दौरान नेताओं तथा कार्यकर्ताओं की तरफ से मिले सहयोग तथा क्षेत्रीय व जातिगत समीकरणों के बारे में विचार-विमर्श किया गया। कुमारी शैलजा ने हारे हुए प्रत्याशियों ने उन नेताओं के बारे में भी बातचीत की है जिन्होंने चुनाव के दौरान पार्टी के अधिकारिक प्रत्याशियों का विरोध किया है। पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस फीडबैक के बाद कांग्रेस द्वारा ऐसे नेताओं के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी जिन्होंने पार्टी प्रत्याशियों का विरोध किया है।

अब कांग्रेस फिर से शुरू करेगी धरनों का कार्यक्रम
कांग्रेस द्वारा भाजपा की घेराबंदी के लिए हरियाणा में जिला स्तर पर धरने देेने का कार्यक्रम शुरू किया गया था, जिसे धारा 144 लागू होने के कारण बीच में ही रोक दिया गया था। आज से शुरू हुई बैठकों के दौरान कुमारी शैलजा द्वारा फीडबैक लेने के साथ-साथ जिला स्तर पर भाजपा के विरूद्ध दिए जाने वाले धरनों की तैयारी को भी अंतिम रूप दिया गया है। कांग्रेस द्वारा बहुत जल्द नए सिरे से धरनों का कार्यक्रम घोषित करेगी।

[MORE_ADVERTISE1]