स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पत्रकारों के सामने गरजे खट्टर: कहा, पंजाब से कोई जल समझौता नहीं

Devkumar Singodiya

Publish: Sep 11, 2019 18:36 PM | Updated: Sep 11, 2019 18:36 PM

Gurgaon

हरियाणा ( Haryana ) के सीएम मनोहरलाल ( CM Manohar Lal ) ने चुनाव आचार संहिता लगने से पूर्व अंतिम पत्रकार वार्ता ( Press Confrance ) में दो टूक कहा कि जल विवाद पर हरियाणा की लाइफ लाइन ( Life Line ) कहलाने वाली नहरों के संबंध में कोई समझौता नहीं करेंगे।

चंडीगढ़. हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने पंजाब के साथ कई दशकों से चल रहे जल विवाद पर साफ किया है कि पानी के मुद्दे पर पंजाब ( Punjab ) के साथ कोई समझौता नहीं होगा। हरियाणा को उसके हक का पानी दिलवाने के लिए पांच साल के कार्यकाल में भाजपा सरकार ( Khattar Government ) ने सर्वाधिक प्रयास किया है।

सीएम मनोहर लाल बुधवार को अपनी सरकार का कार्यकाल पूरा होने और चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले अंतिम पत्रकार वार्ता में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ( BJP Government ) ने अपने कार्यकाल के दौरान एसवाईएल ( SYL ) के मुद्दे की सुप्रीम कोर्ट में उचित पैरवी की। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने हरियाणा के हक में फैसला सुनाया। इस फैसले की पुनर्विचार याचिका के दौरान भी सुप्रीम कोर्ट ( Supreme Court ) ने चार माह के भीतर दोनों राज्यों को इस मामले में फैसला करने का अंतिम अवसर दिया है।

हरियाणा की बनी Life Line

सीएम मनोहर लाल कहा कि नहरी पानी हरियाणा की जीवनरेखा है। इसके लिए हरियाणा ने लंबी लड़ाई है। इसलिए पानी के मुद्दे पर पंजाब हो कोई अन्य राज्य समझौता नहीं हो सकता। सीएम ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (CM Captin Amarinder Singh ) के एसवाईएल के संबंध में दिए गए बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि पंजाब की तरफ से अभी तक बातचीत का कोई एजेंडा नहीं आया है। हरियाणा का स्टैंड इस मामले में साफ है। पंजाब की तरफ से अगर बातचीत की कोई पेशकश आएगी तो इस पर विचार किया जाएगा।