स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पपला को लेकर बड़ी खबर.. साथी बदमाशों के खिलाफ हुई यह कार्रवाई

Devkumar Singodiya

Publish: Nov 14, 2019 01:45 AM | Updated: Nov 14, 2019 01:45 AM

Gurgaon

अधिकारियों ने ऐलान किया था कि जो भी व्यक्ति इन बदमाशों को पकड़वाने के लिए सूचना देगा या पुलिस की मदद करेगा। उसे यह नकद राशि दी जाएगी। साथ ही, उसका नाम भी गुप्त रखा जाएगा। इसके बावजूद तीन माह बीतने पर भी गैंगस्टर पपला अभी तक पुलिस की गिरफ्त से दूर है।

रेवाड़ी. राजस्थान के बहरोड़ पुलिस थाने पर फायरिंग कर कुख्यात बदमाश विक्रम उर्फ पपला को हवालात से छुड़ाकर ले जाने के मामले में स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने 23 बदमाशों के खिलाफ बहरोड़ एसीजेएम कोर्ट में चालान पेश किया है। जिसमें रेवाड़ी के गांव कुतुबपुर निवासी चंद्रपाल उर्फ चंदू यादव, गांव लाधूवास निवासी प्रशांत यादव, आदर्श नगर निवासी आकाश, रामपुरा निवासी ओम प्रकाश यादव, माता चौक निवासी राहुल गुर्जर भी शामिल है।
राजस्थान के एडवोकेट हुकम चंद शर्मा ने बताया कि 6 सितंबर को हुई इस घटना में कुल 23 बदमाशों के खिलाफ चालान पेश किया गया है। बदमाश बिक्रम उर्फ पपला अब भी फरार है। गौरतलब है कि विक्रम के साथी राहुल गुर्जर व आकाश ने रेवाड़ी में पपला को शरण दी थी। दोनों ने मिलकर ही उसके खाने-पीने और ठहरने का प्रबंध किया था।

एके 47 कार्बाइन से फायरिंग कर छुड़ाया था गैंगस्टर को

अलवर के बहरोड़ थाने की हवालात से 6 सितंबर को भागा हरियाणा का मोस्टवांटेड गैंगस्टर पपला उर्फ विक्रम गुर्जर अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। वहीं, केस की पड़ताल में जुटी एसओजी ने पपला को हवालात से भगाने और जानलेवा हमले की वारदात में शामिल कईयों को पकड़ लिया, लेकिन पपला अभी भी गिरफ्त से दूर है।

कई आरोपियों पर एसओजी-एटीएस ने इनाम घोषित किया था। अधिकारियों ने ऐलान किया था कि जो भी व्यक्ति इन बदमाशों को पकड़वाने के लिए सूचना देगा या पुलिस की मदद करेगा। उसे यह नकद राशि दी जाएगी। साथ ही, उसका नाम भी गुप्त रखा जाएगा।

 

पंजाब की अधिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें...
हरियाणा की अधिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें...

[MORE_ADVERTISE1]